5667978

उपचुनाव के नातेज़े आने के बाद सपा फूले नहीं समा रही है क्योंकि यह जश्न है ही इतना बड़ा तो ऐसे में सपा का खुश होना तो लाज़मी है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा-बसपा का गठबंधन कर नए सियासी समीकरण का इजाद किया है. विजय का नया फॉर्मूला मिलने के बाद से अखिलेश अब इस रफ्तार को और तेज़ करना चाहते हैं.

कल आये नतीजों पर गोरखपुर और फूलपुर में जीत हासिल करने के बाद अखिलेश बुधवार ‘बुआ’ मायावती से मिलने उनके घर पहुंचे थे. तो आज अखिलेश अपने कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने जनेश्वर मिश्रा पार्क पहुंचे है. यहां अखिलेश ने कार्यकर्ताओं से बातचीत करते हुए अखिलेश ने कहा कि हमारी यह जीत जनता के सहयोग से मिली है.

अखिलेश ने आगे कहा कि, यह नौजवानों ने दिलाई है. जनता ने बहुत मतदान किया. जिसके लिए मैं जनता का शुक्र गुज़ार हूँ. उन्होंने आगे काह कि, तमाम लोग तमाम तरह से हमें घेरना चाहते थे, लेकिन हमारे दोनों प्रत्याशियों ने बेहतरीन जीत हासिल की है. इस जीत में बड़ा राजनीतिक संदेश है. अखिलेश ने कहा कि, इस जीत से योगी का घमंड चूर-चूर हो जाएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

साथ ही अखिलेश ने कहा कि पिता अपने आप को बेटे में देखते है. कभी-कभी जो काम पिता नहीं कर पाता, तो वह सोचता है कि यह काम मेरा बेटा कर देगा. अपने विजयी प्रत्याशियों की तारीफ करते हुए अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर से विजयी प्रत्याशी प्रवीन निषाद पर उन्होंने कहा कि यह इंजीनियर हैं वो भी मैकेनिकल वाले.

उन्होंने आगे कहा कि यह नटबोल्ट ठीक करने वाले इंजीनियर है. यह नौजवान हैं. यह सदन में जाएंगे और गोरखपुर की आवाज वहां रखेंगे. पिस्टन का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि प्रवीन ने पिस्टन के ऊपर-नीचे चलने वाले मोमेंट को पहिये में बदल दिया.

वहीँ आखिलेश ने योगी पर हमला करते हुए कहा कि, किसान इंतजार करते रहे कि कर्ज माफ होगा, लेकिन कर्ज माफ नहीं हुआ. मांओं ने अपने बच्चे खो दिए क्योंकि उन्हें ऑक्सीजन नहीं मिली. इसमें भी राजनीति की गई. अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर में विकास का कोई काम नहीं हुआ है. पांच बजटों में कुछ नहीं किया गया. उत्तर प्रदेश के दो बजटों में भी कुछ नहीं मिला. हमारे दोनों सांसद यहां की आवाज उठाएंगे.

Loading...