Saturday, December 4, 2021

सांप्रदायिक उन्माद फैलाने पहुंचा था हैदरबाद, चव्हाणके को पुलिस ने अंदर नहीं घुसने दिया

- Advertisement -

हैदराबाद: हिन्दुवादी टीवी चैनल सुदर्शन के बढ़ाने के मकसद से चैनल का प्रमुख सुरेश चव्हाणके आए दिन मुस्लिम समुदाय के नेताओं को अपना निशाना बनाए रखता है. इस बार उसके निशाने पर लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी है. चव्हाणके ने ओवैसी को देशद्रोही बताकर उनके खिलाफ मौर्चा खोला हुआ है.

हाल ही में उसने ‘भारत बचाओ’ नामक यात्रा शुरू की है. जिसके तहत शुक्रवार को वह हैदराबाद के लिए निकला. लेकिन चव्हाणके को तेलंगाना पुलिस ने सांप्रदायिक उन्माद फैलाने के चलते हैदराबाद से 60 किमो पहले ही रोक दिया. हालांकि पुलिस की और से ये कदम शहर की शांति और सुरक्षा को कायम रखने के लिए उठाया गया.

इस दौरान पुलिस ने जब चव्हाण को संगारेड्डी में रोका तो उसने हाइवे जाम कर दिया जिसके कारण आवगमन में जनमानस को दिक्कत आई ,पुलिस ने मामले को कन्ट्रोल करने के लिये जाम लगाने वालों पर लाठियां चलाई तब जाकर जाम खुला. अशोक चव्हाण ने जब माहौल बिगाड़ने के लिये भड़काऊ भाषण दिये तो पुलिस गिरफ्तार किया और जिसके बाद पुलिस और चव्हाण के समर्थकों में हाथापाई भी हुई है.

बता दें कि चव्हाणके राजनीतिक गलियारों में सुर्खियाँ बटोरने के लिए इन दिनों एक जनसंख्या निरन्तर क़ानून की मांग कर रहा है, और इसके लिये वह देशभर में घूमकर जागरूकता फैलाने का दावा कर रहा हैं, लेकिन जहां भी वो जा रहा है वहां पर वह जागरूकता के बदले नफरत फैलाने का काम कर रहा है.

सवाल ये है कि, क्या पत्रकार होने की आड़ में कोई भी शख्स किसी भी राज्य की शांति व्यवस्था को चुनौती दे सकता हैं. किसी को भी देशद्रोही घोषित कर सकता है ?

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles