dead1

राजस्थान के बाड़मेर जिले स्थित सुदूर स्वरूप का टाला गांव में पेड़ पर तीन नाबालिग की झूलती हुई लाश मिलने से इलाके में तनाव फैला हुआ है. तीन नाबालिगों में दो दलित लड़कियां है और एक मुस्लिम लड़का है.

मृतक लड़कियों में से एक के पिता भैरू मेघवाल (41) ने कहा, ‘मेरी बेटी (13) और भतीजी (12) गुरुवार रात घर में हमारे साथ सोई हुई थीं. आधी रात को जब हमारी नींद खुली तो पता चला कि वे लापता हैं. उनके शव शुक्रवार सुबह मिले. हमें विश्वास है कि उन्हें अगवा करके रेप किया गया, फिर उनकी हत्या कर दी गई.’

पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट और मेडिकल जांच से पता चलता है कि तीनों ने आत्महत्या की है. दोनों लड़कियों के लड़के से संबंध थे. पुलिस के मुताबिक, मौके पर तीन जोड़ी पांव के निशान मिले हैं.

source: iStock

भैरू मेघवाल ने बताया, ‘एक साल पहले, हमने एक पंचायत बुलाई थी. वहां मैंने शिकायत की थी कि देशल अक्सर हमारे घर के आसपास मंडराता रहता है. वह अच्छा लड़का नहीं था. उसके कुछ दोस्त अक्सर गांव में हंगामा करते थे.’

वहीँ देशल के रिश्तेदार ने कहा, ‘हम नहीं जानते कि क्या हुआ था. लेकिन हां, हमने सुन रखा है कि उसकी लड़कियों से दोस्ती थी. यह जरूर प्यार का मामला है, जिसकी वजह से उसे ऐसा कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा.’ देशल के पिता कासिम खान का मानना है कि उसके बेटे ने आत्महत्या की है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें