shahna

राजस्थान के भरतपुर की 24 वर्षीय युवती शहनाज खान ने सरपंच का चुनाव जीत कर इतिहास रच दिया है. दरअसल, MBBS कर चुकी शहनाज राजस्थान की पहली एमबीबीएस महिला सरपंच बनी है.

नवनिर्वाचित सरपंच के रूप में शहनाज मेवात क्षेत्र में स्थित ग्राम पंचायत गढ़ाजान से निर्वाचित हुई है. बता दें कि शहनाज की मां राजस्थान सरकार में संसदीय सचिव रहीं हैं और नाना तीन राज्यों की सरकारों में मंत्री रह चुके है.

शहनाज के नाना चौधरी तैयब हुसैन पंजाब, हरियाणा और राजस्थान तीनों राज्यों में कैबिनेट मंत्री रहे हैं. वे वर्ष 1962 में पंजाब सरकार में मंत्री बने और फिर वर्ष 1971 में गुरुग्र्राम (पहले गुड़गांव) और वर्ष 1980 में फरीदाबाद से सांसद चुने गए. इसके बाद हरियाणा में तावडू विधानसभा सीट से विधायक चुनकर मंत्री बने और इसके बाद वर्ष 1993 में राजस्थान सरकार में मंत्री बने.

राजस्थान की पहली एमबीबीएस महिला सरपंच बनी शहनाज

तैयब हुसैन की बेटी और शहनाज की मां जाहिदा भरतपुर जिले के कामां विधानसभा क्षेत्र से एक बार विधायक रहते हुए तत्कालीन अशोक गहलोत सरकार में संसदीय सचिव रहीं. पिता जलीस खान कामां पंचायत समिति के एक बार प्रधान रह चुके हैं.

24 वर्षीय शहनाज की एमबीबीएस का चौथा साल है और वह इसी माह के अंत में गुरुग्राम के सिविल अस्पताल में अपनी इंटर्नशिप शुरू करेंगी. शहनाज भविष्य में हरियाणा अथवा राजस्थान के मेवात क्षेत्र के किसी एक विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहती हैं.

माँ जाहिदा का कहना है कि शहनाज का मानना है कि एमबीबीएस करने के बाद वह मेव समाज की लड़कियों में शिक्षा को लेकर काम करेंगी, इसके लिए उसने अभी से योजना बनाना शुरू भी कर दिया. शहनाज का कहना है कि उत्तरप्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के मेवात इलाके में रहने वाले लोगों को शैक्षिक,आर्थिंक और राजनीतिक दृष्टि से पिछड़ा माना जाता है. अब इस पिछड़ेपन को दूर करना मेरा मुख्य मकसद रहेगा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें