tonk 2512862 835x547 m

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए करीब 6 महीने का समय बाकि रह गया है. ऐसे में अब भगवा संगठनों ने सांप्रदायिकता का कार्ड खेलना शुरू कर दिया. जिसकी शुरुआत मुस्लिम बहुल क्षेत्र टोंक में सांप्रदायिक उन्माद फैला कर की गई.

उत्तर प्रदेश के कासगंज की तरह हिन्दू नए साल के मौके पर रविवार शाम को बड़ा कुआं इलाके से वाहन रैली जुलूस निकाली गई. रैली जब जामा मस्जिद के पास पहुंची तो इस दौरान विवादित नारे लगाए गए. ये नारे ऐसी स्थिति में लगाए गए जब मस्जिद में मगरिब की नमाज हो रही थी.

विवादित नारों के चलते झड़प हो गई, रैली पर पथराव शुरू हो गया. इस घटना के बाद अचानक माहौल इतना खराब हो गय कि पथराव और आगजनी होने लगी. सबीलशाह चौकी के पास 3 बाइक को आग के हवाले कर दिया. डिपो क्षेत्रों में वाहनों को आग लगा दी गई. बड़े कुएं इलाके में हालात अधिक तनावपूर्ण रहे. शहर के बाजार बंद हो गए.

बता दें की रैली निकालने की इजाजत प्रशासन की और से ऐसी स्थिति में दी गई जब अभी गत 18 फरवरी को पुरानी टोंक क्षेत्र में हुए झगड़ा निपटा ही था. घटना के बाद शहर में अफवाहों का दौर चल गया. लोग तरह-तरह की बातें करने लगे.

घटना के बाद शहर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया पत्थरबाजी और हुड़दंग में घायल तीन पुलिसकर्मियों सहित 11 जनों को सआदत अस्पताल में भर्ती कराया गया. टोंक में स्थिति को देखते हुए शहर में धारा 144 लगा दी.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें