Thursday, December 9, 2021

SC/ST एक्ट विवाद: करौली में बीजेपी विधायक और कांग्रेसी नेता के घर को फूंका

- Advertisement -

राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ देशव्यापी भारत बंद के दौरान मंगलवार को 5,000 लोगों की उग्र भीड़ ने दो दलित नेताओं के घरों में आग लगा दी.

आक्रोशित लोगों ने हिंडौन से भाजपा की मौजूदा दलित विधायक राजकुमारी जाटव और राजस्थान की पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता भरोसी लाल जाटव के घरों में आग लगा दी. भीड़ का गु्स्सा इतना उग्र था कि उसने छात्रावास को भी नहीं छोड़ा. गुस्साए लोगों ने अनाज मंडी स्थित दलित छात्रावास को भी आग के हवाले कर दिया.

राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि प्रदेश में सोमवार को दलित प्रदर्शनकारियों द्वारा किए गए नुकसान के एक दिन बाद प्रदेश के कुछ हिस्सों में अन्य जाति के लोग प्रदर्शन कर रहें है. अलवर में एक व्यक्ति की मौत के बाद लोग विभिन्न मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए.

bharat bandh 1522649681

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एन आर के रेड्डी ने बताया कि दलितों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं के बाद हिंडोन सिटी में व्यापार मंडल और अन्य जाति के लोगों ने अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में जूलुस निकाला. उन्होंने कहा कि भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोडे़, लाठीचार्ज और रबड़ की गोलियां चलाईं.

रेड्डी ने बताया कि बंद के दौरान प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर हुई हिंसक घटनाओं में करीब 170 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. हिंडौन कस्बे को छोड़कर सभी जगह स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण है. सात-आठ स्थानों पर निषेधाज्ञा जारी है. हिंसक घटनाओं में शामिल 1,000 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है और 175 मामले दर्ज किए गए हैं.

इसी बीच एससी-एसटी ऐक्ट से जुड़े फैसले की पुनर्विचार याचिका पर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले पर स्टे देने से इंकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की खुली अदालत में सुनवाई करते हुए कहा है कि एससी-एसटी ऐक्ट के प्रॉविजन से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles