farm

महाराष्ट्र में कर्ज और पानी की समस्या को लेकर किसानों की आत्महत्या का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. अब सिंचाई के लिए पानी ने मिलने से परेशान एक किसान ने कुएं में कूद कर आत्महत्या कर ली.

पुणे के इंदापुर तहसील के करदनवाड़ी गांव के 48 वर्षीय किसान वसंत सोपान पवार ने रविवार को आत्महत्या कर ली. पुलिस को वहां से एक सूइसाइड नोट मिला है, जिसमें किसान ने आत्महत्या का कारण सिंचाई के लिए नहर में पानी न छोड़ा जाना बताया है और पानी न छोड़ने के लिए उसने राज्य के दो मंत्रियों को जिम्मेदार ठहराया है. पुलिस ने सूइसाइड नोट में मंत्रियों के नाम होने की पुष्टि की है.

किसान का शव और ये सुसाइड नोट रविवार की सुबह करीब 11 बजे उनके घर के पास स्थित कुएं से बरामद किया गया. मामले के जांच अधिकारी एस.वी. होले ने कहा, ‘उसके शव के पास मिले एक नोट के मुताबिक पवार ने इसलिए आत्महत्या की क्योंकि पास की सिंचाई नहर में पर्याप्त पानी नहीं था.

उन्होंने बताया, अपुष्ट नोट में महाराष्ट्र सरकार के दो मंत्रियों का भी जिक्र है, जिन्हें उसने कथित तौर पर नहर में पानी नहीं छोड़े जाने के लिये जिम्मेदार ठहराया है.’ अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें