दलित आंदोलन में हिंसा थी सुनियोजित, की गई थी बड़ी फंडिंग

11:41 am Published by:-Hindi News
ig

भोपाल: एससी/एसटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट के बदलाव के फैसले के विरोध में 2 अप्रैल (सोमवार) को दलित संगठनों की और से भारत बंद बुलाया गया था. इस दौरान हुई हिंसक घटनाओं में आठ लोगों की मौत हो गई थी, जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए थे.

इस हिंसा से जुड़े भारतीय जनता पार्टी के नेता गजराज जाटव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी से बचने के लिए वह भोपाल में शरण लिए हुए था. पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 10 हजार रुपए के इनाम का एलान भी किया था.

इस मामले में अब मध्य प्रदेश के आईजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश हिंसा में दंगे फैलाने के लिए संगठनों को मोटी रकम दी गई थी. उन्होंने कहा कि हिंसा में फंडिंग करने वालों को इंटेलिजेंस ने चिन्हित किया है.

gajraj jatav

आईजी ने बताया कि  भिंड मुरैना और ग्वालियर में शांति है. ग्वालियर के तीन थाना इलाके में ही कर्फ्यू जारी है, भिंड मुरैना के शहरी इलाकों में रात का कर्फ्यू जारी है. वहीं उनका कहना है कि हिंसा वाले इलाकों में प्रशासन लाइसेंस शस्त्र निरस्त कर रहा है.

आईजी ने कहा कि ग्वालियर में 2700 मुरैना में 1900 भिंड में चार हजार शस्त्र जमा किये जा चुके हैं. ग्वालियर में चार प्रकरण दर्ज हुए आईटी एक्ट के तहत, चार लोगों को भड़काऊ पोस्ट करने पर गिरफ्तार किया है.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें