shivraj singh chouhan 1121

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की परेशानिया खत्म नहीं हो रही है. हाल ही में ‘नर्मदा घोटाला रथ यात्रा’ निकालने वाले पांच बाबाओं को सरकार ने राज्यमंत्री का दर्जा देकर मनाने की कोशिश की थी. लेकिन अब भी साधू शिवराज से खुश नहीं है.

दरअसल, राजगढ़ में एक रैली को संबोधित करने पहुंचे शिवराज सिंह को साधुओं के विरोध का सामना करना पड़ा. रैली के दौरान एक साधु ने उन पर पानी से भरा गुब्बारा फेंका और उन्हें श्राप दिया.

साधू का कहना है कि वह परशुराम अखाड़े का राष्ट्रीय अध्यक्ष है. मध्य प्रदेश में हाल ही में दलित आंदोलन के दौरान हुई हिंसा से साधु नाराज है. गुब्बारा फेंकने के बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने साधू को गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि पूछताछ के बाद साधू को छोड़ दिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bharat

बताया जा रहा है कि जब पुलिस ने साधू को हिरासत में लेने की कोशिश की तो साधू पुलिसवालों से ही भिड़ गया और उसकी पुलिसवालों से जमकर बहस हुई. साधु ने कहा कि गुजरात तो इन्होंने जैसे-तैसे निकाल लिया, लेकिन एमपी नहीं निकाल पाएंगे.

बता दें कि हाल ही में भारत बंद के दौरान मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंसा हुई. इस हिंसा में 6 लोगों की जान चली गई. सबसे ज्यादा हिंसा भिंड में हुई थी.

Loading...