Friday, July 30, 2021

 

 

 

अजीब फरमान – दलितों को बारात निकालने की सूचना थाने में देनी होगी

- Advertisement -
- Advertisement -

मध्य प्रदेश के उज्जैन के महिदपुर में दलितों के लिए स्थानीय SDM ने अजीबोगरीब फरमान जारी किया है. महिदपुर क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व (एसडीएम) जगदीश गोमे द्वारा ये आदेश जारी किया गया है.

SDM ने अपने आदेश में ग्राम पंचायत सचिव सरपंच को कहा है कि वे अपने क्षेत्र के ग्राम पंचायत में होने वाले SC-ST की शादी और बारात की सूचना तीन दिन पहले दें. इसके अलावा इस दौरान जो भी घटनाएं होती हैं उनकी पंजी संधारित करें और उसकी जानकारी संबंधित थाने में दें. इस कार्य में यदि कोई लापरवाही होती है तो उस पर कार्यवाई की जाएगी.

अपने फरमान में SDM ने पंचायत सचिवों को शादी और बारात की पूरी जानकारी रजिस्टर में दर्ज करने और शादी के स्थान से लेकर बारातियों की संख्या तक सब रजिस्टर में दर्ज करने की भी बात कही. साथ ही इसमें हुई लापरवाही पर कड़ी कार्यवाई की भी चेतावनी दी.

इस मामले में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रदेश की शिवराज सरकार अंग्रेजों के कानून लागू कर रही है. महिदपुर प्रशासन के तुगलकी आदेश के चलते दलितों को अब बारात निकालने के लिए थाने से अनुमति लेनी होगी, ऐसा तो अंग्रेजों के राज में, गुलामी के दौर में भी नहीं हुआ था.

सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा एक तरफ दलितों के घर जाकर खाना खाने और रात में रुकने का पाखंड कर रही है, दूसरी ओर इस तरह के आदेश निकाल रही है, जिससे वे खुद को अपमानित महसूस करें. बारात निकालने के लिए थाने की अनुमति लेने का आदेश प्रदेश के सामाजिक समरसता के वातावरण के लिए कलंक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles