kathuaa

जम्मू के कठुआ जिले में 8 साल की मासूम असीफा के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हैवानियत की हदे पार करते हुए उसकी बर्बरनाक तरीके से की गई हत्या ने पुरे देश को हिला कर रख दिया है. वहीँ आरोपियों के बीजेपी के समर्थन से भी देश सन्न है.

No automatic alt text available.

ऐसे में अब इस पूरी घटना का असर केरल में होने वाले उपचुनाव में भी देखने को मिल रहा है. केरला की चेंगानुर विधानसभा में उपचुनाव होने वाले हैं. चेंगानुर में लोगों ने अपने घरों के बाहर पोस्टर लगाए है. जिन पर बीजेपी के लोगों को घरों के नजदीक न आने के लिए कहा गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पोस्टर्स में लिखा है कि ‘इस घर में दस वर्ष से कम उम्र की बच्ची रहती है, भाजपा से जुड़े लोग यदि वोट मांगने आएं तो कृप्या करके अंदर कदम न रखें.’ बता दें कि कठुआ रेप केस मामले में केंद्रीय मंत्री सहित जम्मू और कश्मीर के दो वरिष्ट बीजेपी मंत्रियों ने आरोपियों का खुलकर समर्थन किया है.

No automatic alt text available.

कठुआ से बीजेपी सांसद जितेंद्र सिंह बलात्कारियों के सबंध में कह चुके है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है, उन्हें इंसाफ दिया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने सीबीआई जांच की भी मांग की.

No automatic alt text available.

इसके अलावा राज्य में बीजेपी के दो वरिष्ठ मंत्री लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा रेप आरोपी के समर्थन में 1 मार्च को हिंदू एकता मंच की रैली भी निकाल चुके है. ऐसे में इस पुरे मामले में बीजेपी की भूमिका ही संदिग्ध है.

Image may contain: outdoor

Loading...