nitish kumar 620x400

रामनवमी के बाद से ही बिहार के कई जिले सांप्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रहे है. जिनमे मस्जिदों दरगाहों और मुस्लिम समुदाय के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. इसी बीच अब राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सामने आए.

हनुमान जयंती के दिन नीतीश कुमार ने शनिवार को पटना सिटी के मित्तन घाट स्थित खानकाह मुनमीया में हज़रत मखदूम शाह के मजार पर जाकर जियारत की. दरअसल, नीतीश मोहम्मद मनमपाक के 2 दिवसीय 254वें सलाना उर्स में दूसरे दिन चादरपोशी करने पहुंचे थे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से दुआ करते हुए सैय्यद शाह शमीमउद्दीन अहमद मुनमी ने कहा कि मुख्यमंत्री बिहार की सुख-शांति के लिए दुआ करने आए हैं. वो बिहार जो सांप्रदायिक सद्भाव के लिए देश का आदर्श रहा है. मुख्यमंत्री चाहते हैं कि यह आदर्श पहले से भी ज्यादा मजबूत हो. दरगाह पर चादरपोशी के बाद सीएम नीतीश कुमार ने दरगाह के हॉल में बैठकर सूफी-कव्वाली का भी आनंद लिया.

हिंदू नववर्ष के दिन भागलपुर में शोभा यात्रा के दौरान बीजेपी की और से बिना परमिशन के मुस्लिम मोहल्लें से आपत्तिजनक नारों के साथ निकाली गई रैली के बाद दो समुदायों में हिंसक झड़प हुई थी. इसके बाद सांप्रदायिक हिंसा की चिंगारी औरंगाबाद, समस्तीपुर, मुंगेर, नालंदा और फिर नवादा तक फैल गई.

नीतीश कुमार भी लगातार बिहार की जनता से अपील कर रहे हैं और राज्य में शांति बनाए रखने के लिए कह रहे हैं. कई जिलों में भारी पुलिस बल तैनात है और स्थिति नियंत्रण में लेकिन तनावपूर्ण बनी हुई है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें