sat sharma 620x400

जम्मू के कठुआ जिले में मुस्लिम समुदाय से बदला लेने के मकसद से 8 साल की मासूम असीफा के साथ उग्र हिंदुवादियों द्वारा मंदिर में लगातार तीन दिन सामूहिक बलात्कार कर पत्थरों से कुचल कर हत्या कर देने के मामले में आरोपियों के समर्थन को लेकर बीजेपी की पूरी दुनिया में किरकिरी हो रही है.

अब इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों बीजेपी नेताओं ने पार्टी महासचिव राम माधव को बताया कि वह खुद की मर्जी से हिंदू एकता मंच की रैली में नहीं पहुंचे थे बल्कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा के कहने पर वह वहां गए थे.

टाइम्स नाउ को मिली जानकारी के मुताबिक लाल सिंह और चंदर प्रकाश गंगा ने कहा है कि वह अपनी मर्जी से उस रैली में नहीं पहुंचे थे बल्कि प्रदेश अध्यक्ष के कहने पर वहां गए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

asifaa1

दूसरी चौतरफा घिरे जम्मू-कश्मीर भाजपा अध्यक्ष ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सत शर्मा ने कहा है कि कठुआ में आठ वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या के जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें पकड़ना चाहिए.

राज्य में गठबंधन को लेकर राम माधव ने कहा कि भाजपा राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बातचीत कर रही है. दोनों पार्टियों के बीच कठिनाई वाली कोई बात नहीं है. पार्टी मुख्यमंत्री के संपर्क में है.  राम माधव ने आगे कहा कि पार्टी को अपने विधायकों पर स्टैंड साफ करना चाहिए. इसपर पीएम ने सलाह दी कि उन विधायकों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए.

Loading...