सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो

महिलाओं को लेकर जहाँ एक तरफ जागरूक किया जा रहा है, प्रधानमंत्री मोदी ‘बेटी बचाओ,बेटी पढाओ’ जैसे अभियान को सफल बनाने की कवायद में लगे है वहीँ लगता है उनके सरकारी मुलाजिम इस अभियान की धज्जियाँ उड़ा रहे है. रायपुर के बलौदाबाजार जिले में तैनात महिला आरक्षक को उसके अफसरों ने सिर्फ भद्दी भद्दी गालियाँ बल्कि यहाँ तक कहा की इसे बहुत गर्मी है खूब रगडो, कारण था की महिला आरक्षक जीन्स टी-शर्ट में हाजरी देने आई थी.

नयी दुनिया में छपी खबर के अनुसार महिला आरक्षक अहिल्या वर्मा बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के सिमगा थाने में पदस्थ थी। 11 नवंबर को नोटबंदी के दौरान उसकी स्टेट बैंक में ड्यूटी लगी थी। वहां पार्षद ने लाइन तोड़कर घुसने की कोशिश की। रोकने पर आरक्षक से गाली गलौज की, नौकर कहा और एसपी से कह कर वर्दी उतरवाने की धमकी दी।

इस पर आरक्षक ने उसे झापड़ मार दिया। युवक ने इसकी शिकायत एसपी से की तो उसे मौखिक आदेश पर लाइन अटैच कर दिया गया। 15 नवंबर को लाइन में रात्रि हाजिरी में वह जींस पहनकर गई तो सूबेदार रवि उपाध्याय ने कहा- जींस पहनकर मत आना। उसने बताया कि वह अचानक मिले मौखिक आदेश के चलते आ गई, अभी कपड़े नहीं हैं। कुछ दिन का वक्त दिया जाए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

17 नवंबर को दोबारा जींस पहनकर गई तो सूबेदार ने सिपाहियों के सामने उसे गालियां दीं और लाइन से बाहर कर दिया। मामले की रिपोर्ट एसपी को दी गई जिसमें उस पर अनुशासनहीनता के आरोप लगाए गए। जब वह एसपी के सामने पेश हुई तो उन्होंने कहा- तू बहुत अनुशासनहीन है। पहले भी शिकायत मिली है। फिर आरआई से कहा, इसे बहुत गरमी है, खूब रगड़ो।

Loading...