Saturday, June 12, 2021

 

 

 

सपा और कांग्रेस का गठबंधन हैं विकास का गठबंधन, ये 300 से भी ज्यादा सीटे जीतेगा

- Advertisement -
- Advertisement -


उप्र विधानसभा चुनावों में गठबंधन करने वाली समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने चुनाव प्रचार का शंखनाद कर दिया है. लखनऊ के ताज होटल में आयोजित संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा कि सपा-कांग्रेस गठबंधन विरोधियों को जवाब है.

राहुल गांधी ने गठबंधन को विकास और शांति का गठबंधन करार देते हुए कहा कि गा यमुना का मिलन हुआ है अब इससे विकास की सरस्वती निकलेगी. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मोदी के शब्दों में ये गठबंधन ट्रिपल पी है. मतलब प्रोग्रेस, प्रॉस्पैरिटी, और पीस.

उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तारीफ़ करते हुए कहा कि ‘अखिलेश की नीयत सही है और उन्होंने पिछले पांच साल कोशिश भी की. जो अखिलेश की नीयत है वही उनकी (राहुल) नीयत है और ‘राजनीति नीयत पर होती है.’ उन्होंने भाजपा को फासीवादी करार दिया और कहा कि उनकी नीयत साफ नहीं है.

कांग्रेस के साथ मिलकर 300 से अधिक सीटों पर जीत का दावा करते हुए अखिलेश ने कहा, ‘साइकिल (सपा का चुनाव निशान) के साथ हाथ (कांग्रेस का निशान) हो तो सोचो रफ्तार कितनी होगी. हम दो पहिये हैं. विकास का और खुशहाली का. ये गठबंधन प्रेम और सदभाव बढाने का काम करेगा. अखिलेश ने कहा कि चुनाव में कम समय है. पहली बार ऐसा है, जब उप्र में लोगों ने मन में सरकार ही बना ली है. उन्हें जवाब मिलेगा, जिन्होंने लोगो को लाइन में खड़ा कर दिया. अब लोग लाइन में लगकर नोटबंदी का जवाब देंगे.

इसी के साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आज वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी सपा और अपनी पार्टी के गठबंधन के संकेत भी दिए, वहीँ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राहुल को प्रधानमंत्री पद का भावी उम्मीदवार बनाए जाने का भी इशारा किया.

इस बारें में अखिलेश ने कहा कि सपा और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का एक साझा मकसद यह है कि भाजपा और संघ की विचारधारा को शिकस्त दी जाए. जहां तक लोकसभा चुनाव में गठबंधन का सवाल है तो यह मामला विचार के लिए खुला हुआ है. उन्होंने कहा, अभी इस पर कोई विचार नहीं किया गया है, लेकिन भविष्य में इसकी सम्भावना मौजूद है.

इस सवाल पर कि जिस तरह उत्तर प्रदेश में कांग्रेस-सपा के गठबंधन के मुख्यमंत्री पद का चेहरा अखिलेश हैं, क्या उसी तरह वर्ष 2019 में राहुल प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे, मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा, आपको जल्दबाजी में इसलिए नहीं होना चाहिए, क्योंकि मुख्यमंत्री तो है, नहीं प्रधानमंत्री वाले चेहरे के लिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles