उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) और आजमगढ़ (Azamgarh) के करीब 400 मदरसों की जांच की जायेगी। कथित तौर पर केंद्र सरकार की योजनाओं में घोटाले को लेकर विशेष जांच दल (SIT) को जांच सौंपी गई है।

जानकारी के अनुसार, आरोप है कि कागज पर फर्जी मदरसे चल रहे है। साथ ही कई मदरसों में शिक्षकों की भर्ती में भी घपला है। एक आरटीआई से घपले का खुलासा हुआ है। अब विशेष जांच दल (SIT) पूरे मामले की जांच करेगी।

एसआईटी हर मदरसे की भौतिक जांच करेगी। छात्रों और अध्यापकों का सत्यापन होगा। बताया जा रहा है कि पुलिस थाना स्तर से ये सत्यापन कराया जाएगा। इसके अलावा शिक्षकों के दस्तावेज की भी सत्यता जांची जाएगी।

मिर्जापुर में एक आरटीआई अर्जी से पता चला कि वहां 14 मदरसे अवैध तरीके से चल रहे हैं। यहां न तो कोई भवन है, न प्रबंधन। यही नहीं ये मदरसे केंद्र और राज्य सरकार से करोड़ों का अनुदान भी लेते पाए गए।

इन मदरसों शिक्षकों के नाम पर लाखों रुपए हर महीने मानदेय का भी लिया जा रहा था। जिन 400 मदरसों की जांच की तैयारी है, उनमें से 250 मदरसे आजमगढ़ के हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano