Saturday, November 27, 2021

कथित शिवसैना नेता ने प्रोफेसर के घर पर किया कब्ज़ा, पहले भी कर चुका है इस तरह की कोशिश

- Advertisement -

रूडकी | रूडकी में रहने वाले एक निजी विश्विधालय में कार्यरत असिस्टेंट प्रोफेसर हिमांशु गुप्ता ने नवम्बर 2015 में आवास विकास रूडकी में 15 साल के लोन पर एक घर खरीदा था. अप्रैल 2016 में इस घर की ईएम्आई के बोझ को कम करने के लिए घर का उपरी भाग अशोक नाम के व्यक्ति को 38 सौ रूपए प्रति माह व बिजली  के बिल पर किराये पर दिया गया था. अग्रीमेंट के अनुसार अशोक ने यह घर 11 महीने के लिए किराये पर लिया था.

11 महीने बीत जाने के बाद जब हिमांशु ने अशोक से घर खाली करने के लिए कहा तो उसने कुछ दिनों की मोहलत मांगते हुए एक महीने बाद घर खाली करने की बात कही. लेकिन ऐसा करते करते चार माह बीत चुके है. न ही अशोक , हिमांशु को घर का किराया और बिजली का बिल दे रहा है और न ही घर खाली करने के लिए तैयार है. यहाँ तक की उसने घर खाली करने के लिए 30 हजार रूपए फिरौती तक की मांग कर डाली.

पानी सर से ऊपर जाने के बाद हिमांशु ने स्थानीय पुलिस चौकी में इस मामले की शिकायत दर्ज की. जांच में पता चला की अशोक , पहले भी इस तरह की हरकत कर चूका है. रूडकी के ही आदर्श नगर में अशोक ने संत्रेश के यहाँ घर किराया पर लिया था. यहाँ भी उसने इसी तरह की हरकत की जिसकी वजह से कई बार संत्रेश और अशोक के बीच हाथापाई भी हुई. बाद में मोहल्ले वालो के सहयोग से किसी तरह उसको घर से निकाला गया.

अशोक , खुद को शिवसेना का नेता बताता है और पुलिस कर्मियों से जान पहचान की भी धोंस देता रहता है. स्थानीय नागरिको के अनुसार अशोक, नौकरी का झांसा देकर कई लोगो से पैसे भी ऐंठ चूका है. खुद हिमांशु गुप्ता भी उसकी जालसाजी का शिकार हो चूका है. हिमांशु के अनुसार अशोक ने घर को किराये पर लेने के दौरान पुलिस  वेरिफिकेशन कराने से भी मना कर दिया था.

कई महीने की जद्दोजहत के बाद अशोक , अपनी पत्नी के नाम से पुलिस वेरिफिकेशन करने के लिए राजी हुआ. जबकि खुद के नाम से पुलिस वेरिफिकेशन के लिए उसने स्पष्ट मना कर दिया. उस समय हिमांशु और अशोक के बीच इस मुद्दे को लेकर कई बार बहस भी हुई. इस दौरान उसने , हिमांशु को यहाँ तक धमकी दे दी की अगर वो ज्यादा जोर जबरदस्ती करेगा तो वह उस पर अपनी पोती को छेड़ने का आरोप लगा देगा. फ़िलहाल हिमांशु अपना ही घर खाली कराने के लिए इधर उधर भटक रहा है लेकिन कही से भी उसे उम्मीद की कोई किरण नजर नही आ रही.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles