कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आरएसएस को जमीन देने के लिए नियम-कानूनों को ताक पर रख दिया गया और प्रदेश के विभिन्न शहरों में आरएसएस को लगभग 500 करोड़ रुपये मूल्य की जमीन आवंटित की गई.

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा, प्रदेश सरकार ने नियमों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन करते हुए प्रदेश के विभिन्न शहरों में आरएसएस को 500 करोड़ रुपये कीमत की जमीन आवंटित की है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायकों ने इस सबंध में कई प्रश्न विधानसभा में पूछे हैं. साथ ही सूचना के अधिकार तहत भी जानकारी मांगी लेकिन  प्रदेश सरकार ने कोई उत्तर नहीं दिया.

प्रदेश के दौरे पर आये आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से सवाल करते हुए यादव ने पूछा, भागवत जी, क्या आप उत्तर देंगे कि आरएसएस क्यों प्रदेश में भूमि आवंटित कराने में लगी हुयी है. साथ ही उन्होंने प्रदेश के विभिन्न घोटालों में प्रधानमंत्री द्वारा मौन रहने पर भी सवाल उठाया.

उन्होंने कहा, मध्यप्रदेश में भाजपा शासनकाल में 150 से अधिक घोटाले हुये हैं। इनमें व्यापमं घोटाला, अवैध रेत खनन, 2500 करोड़ का सिंहस्थ घोटाला, बांध और तालाब घोटाला, मध्यान्ह भोजन घोटाला शामिल हैं लेकिन प्रधानमंत्री और आरएसएस प्रमुख इन घोटालों के बारे में कुछ नहीं बोलते हैं.

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, इसका मतलब आरएसएस प्रमुख और प्रधानमंत्री रेनकोट पहनकर नहाने की कला जानते हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें