Saturday, October 23, 2021

 

 

 

जबलपुरः लव जिहाद की उड़ी धज्जियाँ, शमीम के साथ रहेगी शिवा परिहार उर्फ शमा खान

- Advertisement -
- Advertisement -

jaba

प्रेम प्रसंग को कथित लव जिहाद का नाम देकर साम्प्रदायिक उन्माद फैलाने वाले भगवा संगठनों को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है. जबलपुर हाई कोर्ट ने 26 वर्षीय युवती शिवा पारिहार उर्फ शमा खान को अपने मुस्लिम पति के साथ रहने की इजाजत दे दी है.

दमोह निवासी शमीम खान की बंदी प्रत्यक्षीकरण का निराकरण कर हाई कोर्ट ने पुलिस संरक्षण में गुरुवार को पति के घर भेजने के आदेश दे दिए. शमीम ने बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाकर माता-पिता द्वारा बंधक बनाकर रखी गई उसकी पत्नी शमा को मुक्त कराने की मांग की थी.

गुरुवार को हाइकोर्ट के जस्टिस एसके सेठ व जस्टिस अंजलि पॉलो की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए लड़की की इच्छा पर शमीम के साथ भेजने का आदेश दिया. अदालत ने अपने फैसले में कहा कि लड़की बालिग है और उसे उसके पति से अलग नही किया जा सकता.

बता दें कि कुछ दिन पहले शिवा परिहार नाम की 26 वर्षीय युवती ने शमीम नाम के 42 वर्षीय युवक से शादी कर ली थी. शिवा पारिहार ने अपना धर्म बदलकर इस्लाम स्वीकार कर लिया था और उसने अपना नाम भी शमा खान रख लिया था.

दोनों के निकाह के बाद जमकर बवाल मचा था. जिसके बाद  पुलिस संरक्षण में शमा को नारी निकेतन भेज दिया गया, लेकिन वहां से उसके माता-पिता जबरदस्ती उसे घर लेकर चले गए और बंधक बनाकर रखे हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles