CBI raids BJP MP Sinha, who raised the question

पटना बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं. उन्होंने खुद की पार्टी भाजपा के बिहार में जंगलराज की वापसी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है.

भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों की ओर से बिहार में कथित जंगलराज फिर से आ जाने का आरोप बार-बार लगाए जाने पर पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि छोटी सी अवधि में किसी सरकार का प्रदर्शन आंकने का यह कोई तरीका नहीं है.

सिन्हा ने शुक्रवार को कहा कि इतने कम समय में किसी सरकार के काम को आंका नहीं जा सकता. बिहार की नई सरकार का तो हनीमून पीरियड भी अभी खत्म नहीं हुआ है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार विधानसभा चुनावों के प्रचार अभियान से खुद को दूर रखने वाले सिन्हा ने सवाल दागा कि दिल्ली और महाराष्ट्र में क्या हो रहा है? दिल्ली में कानून-व्यवस्था केंद्र सरकार के जिम्मे है जबकि महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार है.

सिन्हा ने कहा कि नकारात्मक राजनीति कभी सफल नहीं होती. मैं नकारात्मक राजनीति का हिमायती नहीं हूं.

इससे पहले, भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने बिहार में हाल में घटी आपराधिक घटनाओं के बाद जंगलराज-2 का नारा दिया था. केंद्रीय मंत्री और लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी बिहार में बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला था.

हालिया विधानसभा चुनाव के दौरान कई बार भाजपा के लिए शर्मिंदगी का सबब बन चुके सिन्हा ने अफसोस जताते हुए कहा कि अब तक हार पर गंभीर आत्ममंथन नहीं किया गया है. वाजपेयी की अगुआई वाली केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके सिन्हा ने कहा कि बीमारी के इलाज के बगैर हम पूरी ताकत से आगे कैसे बढ़ पाएंगे? न्यूज़ 18