rajasamnd live murder 2078063 835x547 m

rajasthan labourer murder 759

लव जिहाद की आड़ में मुस्लिम बुजुर्ग मुहम्मद अफ्जरुल की हत्या करने वाले कथित हिन्दू ह्रदय सम्राट शंभूलाल रेगर के बारें में बड़ा खुलासा हुआ है.

मुस्लिमों से हिन्दू बहन-बेटियों की इज्जत की दुहाई देकर अफ्जरुल के साथ हैवानियत करने वाले शंभू के उसकी मुंह बोली हिन्दू बहन के साथ ही अवैध सबंध थे. ध्यान रहे शंभूलाल रेगर विवाहिक थे और उसके बच्चें भी थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस की और से अदालत में दायर चार्जशीट में सामने आया कि लव जिहाद केस के मुख्य आरोपी शंभूलाल ने अपने अवैध संबंध से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए राजसमंद में मुस्लिम मजदूर की बेरहमी से हत्या कर उसका शव जला दिया था.

400 पन्नों की चार्जशीट में रैगर की पत्नी सीता और उसकी प्रेमिका नर्स को गवाह बनाया गया है. चार्जशीट में सामने आया कि हत्याकांड से एक साल पहले भी शंभूलाल रैगर ने अपने 15 वर्षीय भतीजे के सामने मुर्गियों और बकरियों का गला काट दिया था तथा इसे ‘सांप्रदायिक रंग’ दे दिया था.

रैगर की पत्नी सीता ने भी स्वीकार किया कि शंभूलाल के एक नाबालिग लड़की से अवैध सबंध थे. जिसके बारें में राजसमंद में रह रहे पश्चिम बंगाल के दो बंगाली मजदूरों अज्जू और बल्लू को भी मालूम था. अज्जू और बल्लू अफ्जरुल के साथ ही रहते थे.

चार्जशीट के मुताबिक, रैगर ने अफराजुल को मारने की तैयारी पहले से ही कर ली थी. वो मर्डर करने से करीब पांच महीने पहले ही हथियार ले आया था और उसने एक लुहार को हथियार धारदार बनाने को दिया था. साथ ही उसने अपने 15 साल के भतीजे को भी ट्रेनिंग दी थी. ताकि वो इस खौफनाक हत्या का वीडियो बिना घबराए बना सके. चार्जशीट मं कहा गया कि रैगर अपने भतीजे के दिल को मजबूत करने के लिए उससे जिंदा मुर्गे कटवाता था.

पुलिस ने रैगर को चरित्रहीन व्यक्ति भी बताया है. क्योंकि उसके एक अन्य महिला नर्स से भी नाजायज संबंध थे. चार्जशीट के मुताबिक, इससे यह स्पष्ट है कि शंभूलाल चरित्रहीन प्रवृति का रहा है, जिसके…. (महिला का नाम) के अलावा …. (नर्स) से भी नाजायज संबंध थे.

चार्जशीट के मुताबिक मोहम्मद अफराजुल को इसलिए निशाना बनाया गया, क्योंकि वो बंगाल से आने वाले कई प्रवासी मजदूरों की मदद करता था. रैगर ने सोचा कि अगर वो अफराजुल की हत्या कर देगा, तो इससे बंगाली मजदूर राजसमंद आने से डरने लगेंगे.

Loading...