कर्नाटक हाईकोर्ट ने मुस्लिमों में पुरुष के दूसरी शादी करने को कानूनी तो माना है लेकिन इसके साथ ही ये भी कहा कि यह पहली पत्नी के लिए ”बड़ी क्रूरता” का सबब बनता है।

लाइव लॉ के अनुसार, न्यायमूर्ति कृष्णा एस दीक्षित और न्यायमूर्ति पी कृष्णा भट की खंडपीठ ने स्पष्ट किया है कि क्रूरता एक बहुत ही व्यक्तिपरक अवधारणा है और इसका गठन करने वाला आचरण ”अनिश्चित रूप से परिवर्तनशील” है। बेंच ने टिप्पणी की, ‘मुस्लिमों में दूसरा विवाह कानूनी है, लेकिन अकसर यह पहली पत्नी के खिलाफ भारी क्रूरता की वजह बनता है और इसलिए उसका तलाक का दावा सही है।’

बता दें कि उत्तरी कर्नाटक के विजयपुरा के रहने वाले पाटिल ने जुलाई 2014 में शरिया कानून के तहत बेंगलुरु में रमजान बी से निकाह किया था। इस शादी के बाद पाटिल ने दूसरी शादी कर ली। इसके बाद रमजान बी ने निचली अदालत में याचिका दायर कर क्रूरता और परित्याग करने के आधार पर शादी को खत्म करने का अनुरोध किया।

रमजान बी ने युसूफ और उसके माता-पिता पर उससे और अपने माता-पिता से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया। इसके खिलाफ युसूफ पाटिल ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि वह पहली पत्नी से प्यार करता है। पाटिल ने अदालत से कहा कि उसने माता-पिता के भारी दबाव की वजह से दूसरी शादी की जो शाक्तिशाली और राजनीतिक रूप से प्रभावशाली हैं। उसने दूसरे विवाह को सही ठहराते हुए कहा कि शरीया कानून में मुस्लिमों को बहुविवाह की इजाजत है और इसलिए यह कृत्य क्रूरता के बराबर नहीं है और न ही विवाह के अधिकारों का विरोध करने का आधार है।

पीठ ने कहा कि ”केवल इसलिए कि एक कार्य वैध है, यह विवाहित जीवन में न्यायसंगत नहीं बन जाता है, उदाहरण के लिए, निश्चित रूप से अपवादों को छोड़कर सभी के लिए धूम्रपान और शराब गैरकानूनी नहीं है, खर्राटे भरना भी नहीं, लेकिन फिर भी कुछ परिस्थितियों में यह एक संवेदनशील पति या पत्नी के प्रति क्रूरता बन जाते हैं। उसी सादृश्य के आधार ,भले ही एक मुस्लिम द्वारा दूसरी शादी करना कानूनन वैध हो सकता है, लेकिन यह अक्सर पहली पत्नी के प्रति बड़ी क्रूरता का कारण बन जाती है और उसके तलाक मांगने के दावे को सही ठहराती है।”

पीठ ने टिप्पणी की, ‘अगर बताई गई परिस्थितियों को न्यायोचित माना जाए तो पति दो और शादियां कर सकता है और शरीया का सहारा ले सकता है।’

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन