sambhl

sambhl

संभल: आज पूरे देश में पेंगबर ए इस्लाम हजरत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के योम ए पैदाइश का जश्न मनाया गया।  हर बार की तरह इस बार भी अहले सुन्नत वल जमात के नौजवानों की सबसे बड़ी तंजीम मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन आफॅ इंडिया ने ईद ए मिलादउन्नबी शानो-शौकत के साथ मनाया।

तंजीम ने 6-12 रबीउन्नूर को मर्सी वीक (रहमत वाला हफ्ता) के तोर पर मनाया ओर तंजीम की अलग अलग यूनिट ने देशभर मैं प्रोग्राम मुनक्किद कराये। आज योम ए पैदाइश के मोके पर एमएसओ उत्तर प्रदेश की सभंल यूनिट ने सरायतरीन से निकलने वाले जुलूस ए मुहम्मदी (सल्ल.) मैं शिरकत की, ओर लोगों के बीच इस्लामी किताबें बांटी।

sambhal1

जुलूस के बाद एक ज्ञापन हुकूमत ए हिंद को भेजा गया। जिसमें ईद ए मिलाद उन्नबी को योम ए अमन घोषित करने, मुसलमानों के निजी कानून में दखलंदाजी न करने की मांग की। साथ ही मुसलमानों ओर दलितों के खिलाफ जुल्मों ओर दोषियों को छूट, नजीब के मामले में ढील बरतने, ओर फिलिस्तीन की कीमत पर इजराइल के साथ दोस्ती पर नाराजगी जाहिर की गई।

एमएस्औ उत्तर प्रदेश की तरफ से जारी बयान में उत्तर प्रदेश संयोजक वसीम अख्तर बरकाती ने कहा की तंजीम हर मोके पर मुसलमानों ओर दूसरे कमजोर तबकों के हक के लिए आवाज बुलंद करती रहेगी। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि ज़महूरियत मैं उठने वाली एक आवाज की भी बड़ी अहमियत होती है, इसलिए तंजीम हर जुल्म ओर नाइंसाफी के खिलाफ मजबूती से खड़ी रहेगी।

इस मोके पर चो. मुदब्बिर अलीग, कमर बरकाती, फैसल बरकाती, फैजान बरकाती, अनवर खान, वसीम खान, मो. शरीफ मोजूद रहे।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें