बुधवार को लखनऊ के ठाकुरगंज में संदिग्ध सैफुल्लाह की यूपी एटीएस के हाथों मौत के बाद एक और संदिग्ध का नाम सामने आया था. जिसने शुक्रवार को पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया हैं.

संदिग्ध आतंकी रॉकी राणावत को मंगलवार से एटीएस और क्राइम ब्रांच पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही थी. लखनऊ, कानपुर और बकेवर से गिरफ्तार किए गए संदिग्ध आतंकियों के साथ ही एटीएस को बसरेहर के रहने वाले रॉकी राणावत की भी तलाश थी. पुलिस ने छापेमारी करके उसके घर से उसका लैपटॉप बरामद किया था.

शुक्रवार शाम 6 बजे को पहले उसके परिवार ने एसएसपी से बंगले पर मुलाक़ात की. इसके बाद रात 8 बजे अचानक एसएसपी बंगले के सामने आकर एक प्राइवेट रुकी, जिससे रॉकी उतरा. उसने वहां मौजूद मीडिया कर्मियों से पहले बातचीत कर अपने को निर्दोष बताया और फिर सीधे बंगले में जाकर सरेंडर कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रॉकी ने बताया कि 17 साल पहले उसके पिता का अपहरण करके कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी. वे ही लोग उसे फंसाना चाहते हैं, इसीलिए आतंकी गतिविधियों में उसका नाम घसीटा जा रहा है. एसएसपी शिवहरी मीना ने कहा कि रॉकी राणावत ने सरेंडर किया है, इसकी जानकारी एटीएस को दे दी गई है. एटीएस के आने तक वह पुलिस की हिरासत में ही रहेगा.

Loading...