tr

हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश के लिए आन्दोलन चलाकर महिलाओं का प्रवेश करा चुकी भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख तृप्ति देसाई अब सबरीमाला मंदिर में महिलाओं का प्रवेश चाहती हैं. लेकिन केरल सरकार ने तृप्ति देसाई को इजाजत देने इनकार कर दिया हैं.

दरअसल देसाई की योजना 100 महिलाओं को लेकर  भगवान अयप्पा मंदिर में प्रवेश पाना हैं. लेकिन परम्पराओं के अनुसार इस मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी हैं. मंदिर में 10 से 50 वर्ष आयु वर्ग की लड़किया और महिलाएं प्रवेश नहीं कर सकती.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारें में देवस्वम मंत्री कड़कमपल्ली सुरेंद्रन ने कहा, ‘‘सबरीमाला मंदिर का प्रशासन त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड (टीडीपी) के हाथ में है और इसकी परंपराएं तथा नियम हर किसी पर लागू होते हैं.’’ उन्होंने कहा कि सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश का मामला उच्चतम न्यायालय में पहले से चल रहा है. उच्चतम न्यायालय के फैसले से पहले परंपराओं और रीति रिवाजों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा.

गौरतलब रहें कि इससे पहले तृप्ति शनि शिंगणापुर, त्रयम्बकेश्वर मंदिर और हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश के लिए आंदोलन कर चुकी हैं.

Loading...