nisar

nisar

महाराष्ट्र के पुणे में सूचना के अधिकार के तहत मदरसे की जानकारी मांगने के कारण सरकारी कर्मचारियों ने इतना सताया कि RTI एक्टिविस्ट निसार शेख को खुदखुशी तक करनी पड़ी.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुणे के दौंड निवासी 46 वर्षीय निसार शेख ने आत्महत्या करने से पहले एक वीडिया बनाया, जिसमें उन्होंने उन लोगों के नाम और करतुते बयान की. जिसकी वजह से उन्हें ये कदम उठाने को मजबूर होना पड़ा.

उन्होंने बताया, उन्होंने RTI के तहत, गोपालवाड़ी और लिंगाली स्थित मदरसे, स्कूल और महाविद्यालयों की जमीनों के बारे में जानकारी मांगी थी. उन्हें इस बाबत झूठी जानकारी उपलब्ध कराई गई थी, जिसकी शिकायत उन्होंने धर्मदाय आयुक्त, गृह मंत्रालय और पुलिस से की थी.

शेख ने वीडियो में उन 11 लोगों के नाम भी बताए. साथ ही आखिरी इच्छा के तौर पर उन्होंने कहा कि इन 11 लोगों के खिलाफ कार्रवाई होने के बाद ही उन्हें दफनाया जाए. इन लोगों में पार्षद और राजकीय कर्मचारी शामिल है.

वीडियो में शेख ने कहा, मौत के बाद कुछ लोग मामले के सुलह की कोशिश करेंगे, धर्म का हवाला देंगे, लेकिन आप लोग ऐसा मत होने देना.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें