अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी आने के बाद उत्तरप्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी हैं.

सीएम आदित्यनाथ योगी ने कहा कि वे सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं. इस मामले में दोनों पक्षों को आगे आकर इस विवाद के शांतिपूर्ण हल पर चर्चा करनी चाहिए. वहीँ RSS विचारक राकेश सिन्हा ने कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर पहले से ही था. अतः वहां पर राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए ना की मस्जिद का.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सुप्रीम कोर्ट द्वारा की गई टिप्पणी का स्वागत करते हुए राकेश सिन्हा ने कहा है कि बिल्कुल इस मामले को बातचीत से ही सुलझा लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों को इस मामले पर एक साथ बैठकर सुलझा लेना चाहिए. उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को ही सही मानते हुए कहा है कि उक्त मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को ही आधार बनाकर बातचीत की जा सकती है.

सिन्हा ने कहा कि अब सुप्रीम कोर्ट की इस टिप्पणी के बाद इस मामले का समाधान ढूंढने में किसी को भी कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद कमेटी इस बात का कोई भी ठोस सबूत नहीं देख सके हैं कि वहां पर पहले से मस्जिद थी. ऐसे में किसी भी पक्ष को वहां पर राम मंदिर निर्माण करने में कोई भी परेशानी नहीं होनी चाहिए.

Loading...