स्वच्छ भारत अभियान के तहत उतराखंड सरकार ने राज्य के सभी मदरसों को शौचालय बनवाने का आदेश जारी किया है. साथ ही आदेश में कहा गया कि जिस मदरसें में शौचालय नहीं होगा, उसकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी.

गुरुवार को मदरसा बोर्ड ने इस सबंध में आदेश भी जारी कर दिए. बोर्ड के सचिव आलोक शेखर के अनुसार, ऐसा कदम इसलिए उठाना पड़ा है क्योंकि राज्य के ज़्यादातर मदरसों ने शौचालय बनाने में मदद की पेशकश के बावजूद इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आलोक शेखर ने बताया कि मौलाना आज़ाद शिक्षा प्रतिष्ठान ने राज्य में मदरसों में शौचालय निर्माण के लिए मदद करने की पेशकश की थी. लेकिन मदरसों ने शौचालय निर्माण में कोई रूचि नहीं ली.

विभाग ने अब इन मदरसों को एक नोटिस और भेजा है कि अगर उन्होंने 30 नवंबर तक शौचालय बनाने के लिए स्वीकृति का प्रस्ताव नहीं भेजा तो उनकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी.

ध्यान रहे राज्य में 197 मान्यता प्राप्त मदरसे हैं, लेकिन इनमें 47 मदरसों में शौचालय नहीं हैं. इन मदरसों में से केवल एक मदरसा शौचालय बनाने के लिए तैयार हुआ है.

Loading...