Thursday, December 9, 2021

जानिये क्या है कोडरमा के मुस्लिमों को निशाना बनाये जाने के पीछे की असल कहानी?

- Advertisement -

कोडरमा: कोडरमा थाना क्षेत्र के गांव कोलगरमा जो कोडरमा थाना के महज 8 किलोमीटर पूरब की ओर है, उस गांव में लगभग 250 घरों में से 20 मुस्लिम समुदाय के घर है।

इस गांव में लोग सदियों से एक साथ मिल जुल कर पूरे भाईचारे के साथ रहते आये है और अपने पर्व को एक साथ मिल जुल कर मानते थे वही खेती और आजीविका का उपार्जन भी सामूहिक किया करते थे।

कुछ साल पहले मुस्लिमों ने मस्जिद बनाया इसका विरोध गाँव के कुछ लोग करने लगे जिनका संबंध बजरंग दल से है। उनका कहना है कि अगर आप लोगों को गांव में रहना है तो मस्जिस, मदरसा, अज़ान और नमाज़ का ख्याल छोड़ दीजिए।
इस बात को ले कर मुस्लिमों पे कई बार जानलेवा हमला भी किया है। पिछले साल 5 अप्रैल 2017 को राम रामनवमी के जुलूस के दौरान मस्जिद में घुस कर तोड़फोड़ किया गया और मुस्लिम समाज के लोगों के साथ मार पीट भी किया गया था। इस घटना में कई लोग गंभीर रूपसे घायल भी हुए थे। गांव वालों का कहना है के इस घटना को लेके जो केस हमलोगों ने किया है उसमें धारा 307 रहने के बावजूद किसी को अरेस्ट नही किया गया, यही कारण है के आये दिन वो लोग हमलोगों के घर मे घुस कर मार पीट करते रहते हैं।

उस गांव में पिछले साल से मुस्लिम समुदाय के लोगों का हुक्का पानी बंद कर दिया गया है। इस तुगलकी फरमान के कारण मुस्लिम समुदाय को अपने गांव से 15 किलोमीटर दूर झुमरी से राशन पानी लाना पड़ाता है और गांव में सरकारी कुआँ से पानी पीने पर भी रोक लगा दिया गया। इसके अलावे खेत मे पानी पटाना भी बंद कर दिया गया जिस कारण लाखों का फसल बर्बाद हुआ गांव का कोई भी ग्रामीण मुस्लिम समुदाय के लोगों से बात करता तो उन नेताओं द्वारा उनसे जुर्माना वसूला जाता है। इस तरह मुस्लिमो के पूरे सामाजिक जीवन को काटा गया है।

गांव के लोगों से बात कर के ये बात सामने आया के कल 25 मई 2017 लगभग 8 बजे का हमला पहले से प्लान किया गया था। कल 8 बजे इन लोगों ने दो पटाखा फोड़ा और उसको सुन के सारे लोग ये कहते हुए मस्जिद की ओर दौड़े के कुँवा में कोई गिर गया है। उक्त लोग पहले वहां पर मौजूद सारे लाइट को फोड़ दिया और मस्जिद में घुस कर लोगों के साथ मारपीट और तोड़ फोड़ करते हुए मस्जिद के छत पे चढ़ गए और मुस्लिम समुदाय के घरों पर पथराव कर दिए।

कुछ लोग मुस्लिम समुदाय घरों मे घुस कर औरतों के साथ मार पीट भी किया। इस घटना में दो महिला एक पुरुष गम्भीर रूप से घायल हो गए है।

इस घटना में अहम नाम गोपाल यादव, सहदेव यादव, छोटू यादव, मोतीलाल साव, सुरेंद्र साव, संजय यादव,पंकज साव,डॉ नारायण साव, राजू सिंह,गोपाल साव,बासुदेव यादव,शिवशंकर यादव, लक्ष्मण साव, मेमचंद यादव, प्रभु साव, बीरेंद्र साव आदि लोग शामिल थे। ये लोग पिछले तीन साल में मुस्लिम समुदाय पर कई बार उनके घर मे घुसकर जानलेवा हमला किये है और उन्हें गांव छोड़ कर जाने की धमकी देते रहे है।

इस पूरी घटना को अगर ज़िला प्रशाशन गम्भीरता से लेता तो इस तरह की घटना रुक सकती थी पर इसे गंभीरता से नही लिया गया।
इस घटना के बाद भय से कई मुस्लिम परिवार रात 3 बजे पैदल जिला मुख्यालय कोडरमा पहुच कर शरण लिए हुए हैं और दोषियों के खिलाफ कारवाई और सुरक्षा की मांग कर रहें हैं।

नोट – यह लेख नदीम खान की फेसबुक वाल से लिया गया है, कोहराम न्यूज़ किसी भी तथ्य की ज़िम्मेदारी नही लेता 

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles