Saturday, September 25, 2021

 

 

 

अकोला में हुआ ताजदार खत्म ए नबूवत का इजलास

- Advertisement -
- Advertisement -

आकोला: शनिवार को बालापुर अकोला की जामा मस्जिद में मनाया जा रहा तहफ्फुज ए नामूस ए रिसालत सप्ताह समाप्त हुआ। इस दौरान बड़ी संख्या में उलेमा ए अहले सुन्नत ने हिस्सा लिया। साथ ही रज़ा एकेडमी प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी का भी जोरदार स्वागत किया गया।

विदर्भ और मराठवाड़ा के दौरे के तहत अकोला पहुंचे नूरी साहब ने कहा कि देश की संसद से जल्द से जल्द तहफ्फुज ए नामूस ए रिसालत बिल पास होना चाहिए। ऐसे में उपस्थित लोगों ने भी तहफ्फुज ए नामूस ए रिसालत बिल को अपना समर्थन दिया।

नूरी साहब ने कहा कि आका की नामूस की हिफाजत के लिए सभी को एकजुट हो जाना चाहिए। क्योंकि ये हमारा दुनिया व आखिरत का सामान है। लेकिन आज इस्लाम के दुशमन इसी जमा पूंजी पर डाका डालना चाहते है। वो अजल से हमारे दुश्मन है। हमारी आफियत इसी में है कि हम तहफ्फुज ए नामूस ए रिसालत के लिए एकजुट हो जाए। तभी इज्जत और वकार बाकि रहेगा।

वहीं जालना रज़ा एकेडमी के सदर मौलाना सय्यद जमील रिजवी ने कहा कि तहफ्फुज ए नामूस ए रिसालत बिल को लेकर हमारे लिए कुछ भी अहम नहीं है। बिल पर हम हर तरह से अल्हाज सईद नूरी साहब के साथ है। पैगंबर ए इस्लाम और बुजुर्गाने दीन की तौहीन हरगिज बर्दाश्त नहीं कर सकते। इसके अलावा मौलाना अब्बास रिजवी ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को इस बिल को जल्द पास करना चाहिए ताकि मुसलमानों का विश्वास बहाल हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles