कश्मीर के बांदीपोरा में छुट्टियां मनाने के लिए घर आए बीएसफ जवान की आतंकियों ने घर में घुसकर हत्या कर दी थी. शहीद जवान को गुरुवार को पुरे सैनिक सम्मान के साथ सुपुद्र ए ख़ाक कर दिया गया.

शहीद जवान रमीज अहमद को बांदीपोरा के हाजिन पुलिस स्टेशन में गुरुवार सुबह श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान रमीज के साथी और बीएसएफ के जवान मौजूद रहे. 33 साल के रमीज अहमद राजस्थान में तैनात थे. वे छुट्टी परअपने घर पहुंचे थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बुधवार रात को आतंकियों ने उनके घर में घुसकर उन्हें अगवा करने की कोशिश की थी.  परिवार वालों ने जब इसक विरोश किया तो उन्हें गोली मार दी. आतंकियों के इस हमले में रमीज अहमद के परिजन भी घायल हुए हैं. परिवार के 4 सदस्यों के आतंकियों की गोलीबारी में चोटें आई हैं. इनमें उनके पिता मोहम्मद मकबूल पैरे, मां और उनकी फूफी और चाची शामिल हैं.

तीनों लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. शहीद जवान की चाची की हालत गंभीर बताई जा रही है, जबकि तीन अन्य की हालत स्थिर है.

ध्यान रहे इससे पहले भारतीय सेना में अधिकारी उमर फैयाज की भी आतंकियों ने घेर कर हत्या कर दी थी. वो उस समय छुट्टी पर घर आए हुए थे. हालांकि बाद में सेना ने ऑपरेशन चला कर इस हत्या में शामिल आतंकियों को मार डाला था.

Loading...