padmaa

padmaa

इतिहास से छेड़छाड़ का हवाला देकर राजस्थान सहित देश भर में राजपूत समुदाय की और से संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध किया जा रही है. लेकिन इसी बीच बूंदी के राजपूत घराने ने इस पुरे मामले को अब नया मोड़ दे दिया है.

बूंदी राजघराने ने फिल्म को अपना समर्थन देते हुए कहा कि फिल्म के विरोध के नाम पर राजनीति हो रही है. राजघराने के सदस्य बलभद्रसिंह और वंशवर्द्धनसिंह ने कहा कि पहले फिल्म रिलीज होने दें, उसमें कुछ विवादित लगे तो विरोध समझ आता है. लेकिन बिना फिल्म देखे विरोध-प्रदर्शन, तोड़फोड़ की घटनाएं दुखद हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बलभद्रसिंह और वंशवर्द्धनसिंह ने कहा कि फिल्म का विरोध करने वाले अपनी राजनीति चमका रहे हैं. उन्होंने फिल्म का समर्थन करते हुए कहा कि वे इसके रिलीज के पक्ष में हैं.

उन्होंने फिल्म का विरोध कर रहे करणी सैनिकों, हिंदू संगठनों को लॉजिक पर बात करने की सलाह देते हुए कहा कि फिल्म देखे बिना विरोध, सिनेमाहॉल में तोड़फोड़ जैसी घटनाएं दुखद हैं. राजपूत युवा ऊर्जा अफवाहों पर ध्यान देने की बजाए सकारात्मक कार्यों में करें.

उन्होंने राजपूत समाज को संबोधित करते हुए कहा कि पहले सच्चाई परखें, फिर लगे कि फिल्म राजपूत संस्कृति-परम्पराओं और महारानी की मर्यादा-गरिमा के खिलाफ है तो विरोध करें. फिर बूंदी राजघराना भी साथ है.

Loading...