2018 06 13 ky9tv nl

राजस्थान मे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। राजपूत समाज और रावणा समाज ने अब बीजेपी के खिलाफ मौर्चा खोल दिया है। ऐसे मे चुनाव से पहले वसुंधरा सरकार की परेशानी बढ़ सकती है।

समाज के लोगों ने भाजपा सरकार पर वादाखिलाफी, तानाशाही का आरोप लगाते हुए इस बार चुनावों में समर्थन नहीं देने की घोषणा की है। राजपूत समाज संघर्ष समिति ने कहा कि राजस्थान के गांवों, तहसील और जिला स्तर पर भाजपा धिक्कार सम्मेलन आयोजित कर भाजपा मुक्त राजस्थान के लिए समाज के हर व्यक्ति को शपथ दिलाएगी।

समिति प्रदेश संयोजक गिरिराज सिंह लोटवाड़ा ने कहा कमल का फूल हमारी भूल, हमारा नारा है। आनंदपाल प्रकरण में लिखित समझौते के बावजूद सरकार बदल गई। जयपुर का राजमहल प्रकरण, चतुरसिंह सोढ़ा प्रकरण, प्रभावी राजनीतिक परिवारों को तोड़ना, आरक्षण मुद्दा राजपूत सभा पर पुलिस का छापा, हजारों झूठे मुकदमे लगाने जैसी कई प्रकरणों से समाज में भारी रोष है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

21 अक्टूबर को धिक्कार रैली निकालकर भाजपा सरकार को समर्थन नहीं देने की समाज के लोगों से अपील करेंगे। 24 जून को सामाजिक सद्भावना दिवस से इसकी शुरुआत होगी जिसमें रक्तदान, पौधरोपण कार्यक्रम होंगे।

मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष हनुमान सिंह खांगटा, रावणा राजपूत समाज के प्रदेश प्रतिनिधि रणजीत सिंह गेंदिया, श्री राष्ट्रीय राजपूत करनी सेना केअध्यक्ष सुखदेव सिंह सहित कई पदाधिकारी इस मौके पर मौजूद थे।