bal

कांग्रेस के गरम दल के नेता बाल गंगाधर तिलक को राजस्थान की स्कूली शिक्षा में ‘आतंकवाद का जनक’ बताया गया है. राज्य के स्कूलों में कक्षा 8वीं में पढ़ाई जाने वाली अंग्रेजी की सामाजिक विज्ञान की किताब में उन्हें ‘आतंक का जनक’ (फादर ऑफ टेररिज्म) बताया गया है.

किताब के पेज नंबर 267 पर 18-19 वीं शताब्दी के राष्ट्रीय आंदोलन की घटनाएं शीर्षक से जुड़े चैप्टर में लिखा गया है कि बालगंगाधर तिलक ने राष्ट्रीय आंदोलन में उग्रता के रास्ते को अपनाया था. यही वजह है कि उन्हें ‘आतंक का जन्मदाता’ कहा जाता है.

पुस्तक में तिलक के हवाले से बताया गया है कि उनका मानना था कि ब्रिटिश अधिकारियों से प्रार्थना करने मात्र से कुछ प्राप्त नहीं किया जा सकता. शिवाजी और गणपति महोत्सवों के जरिये तिलक ने देश में अनूठे तरीके से जागरूकता फैलाने का कार्य किया.

राजस्थान : 8वीं की किताब में बाल गंगाधर तिलक को बताया 'फादर ऑफ टेररिज्म', मचा बवाल 

सोशल मीडिया में लोगों ने आठवीं कक्षा की इस किताब के वे पन्ने वायरल किए हैं और इस चैप्टर को हटाने की मांग कर रहे हैं. कांग्रेस ने पुस्तक को सिलेबस से हटाने की मांग की है. वहीं प्रकाशक ने इसे अनुवाद की गलती बताते हुए सुधार करने की बात कही है.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने इसे देश का अपमान बताया है. उन्होंने एक बयान देते हुए कहा ‘यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि शिक्षा के सिलेबस को जिस गलत स्वरूप में पेश किया जा रहा है, उससे स्वतंत्रता सेनानियों की गरिमा को ठेस पहुंच रही है’.
पायलट ने सरकार से मांग की है कि लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के संदर्भ में जिस किताब में गलत तथ्य लिखे गये हैं उसे सिलेबस से हटाया जाए और पुस्तक पर रोक लगा दी जाए.
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?