मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुए ट्रेन ब्लास्ट मामलें में एक और गिरफ्तारी हुई हैं. यूपी एटीएस ने मंगलवार को ट्रेन ब्लास्ट से जुड़े गिरोह को कारतूस सप्लाई करने वाले शख्स को गिरफ्तार किया हैं. आरोपी के पास से पुलिस ने नकली मोहरें भी बरामद की है.

गद्दार राघवेंद्र सिंह चौहान एक आर्म्स डीलर है. जो कानपुर के गीता नगर का रहने वाला है. थाना काकादेव क्षेत्र में ही LRS आर्म्स एंड एम्यूनिशन के नाम से उसकी शस्त्र की दुकान है. 7 मार्च को मध्य प्रदेश में हुए ट्रेन ब्लास्ट के बाद  गिरोह के पास से लगभग 700 कारतूस औऱ खोखे बरामद किए गए थे.

कारतूसों को लेकर पूछताछ के दौरान राघवेंद्र का नाम सामने आया. इसी आधार पर उसकी शस्त्र की दुकान पर छापेमारी की गई. जांच के दौरान उसकी दुकान में बड़ा घपला पाया गया. चौहान ने मेस्टन रोड स्थित खन्ना गन हाउस और सेवा गन हाउस से बड़ी मात्रा में कारतूस खरीदे थे, लेकिन अपने स्टॉक रजिस्टर में उन्हें दाखिल नहीं किया.

चौहान के ठिकाने से कई अधिकारियों की मोहरें भी मिली हैं. ये मोहरें जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी कानपुर, चिकित्साधिकारी बिलहौर, विभिन्न गन हाउस और शिक्षण संस्थाओं की हैं. इसके साथ ही आरोपी के पास से एक सेल्स रजिस्टर बरामद हुआ है जो संदेह के घेरे में है. आरोपी राघवेंद्र सिंह चौहान को आज लखनऊ कोर्ट में पेश किया गया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?