राम मंदिर निर्माण को लेकर 25 नवंबर को अयोध्या में शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) का आशीर्वाद और धर्मसभा का आयोजन करने जा रही है। इस कार्यक्रम में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी आ रहे है। हालांकि उनके आगमन को लेकर विरोध शुरू हो गया है।

अयोध्या  का संयुक्त व्यापार मंडल, उद्धव ठाकरे के दौरे का विरोध कर रहा है। संयुक्त व्यापार मंडल के अध्यक्ष जनार्दन पांडे ने कहा कि अब तक उद्धव ठाकरे कहां थे? महाराष्ट्र में शिव सैनिकों द्वारा उत्तर भारतीयों को डंडे से मार-मार कर भगाया गया तब कहां थे उद्धव ठाकरे? आज उन्हें उत्तर भारतीयों की याद आई है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होने कहा, 18 सांसद वाली शिवसेना पार्टी अगर दलित एक्ट के मुद्दे पर समर्थन कर सकती है तो अब तक राम मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार पर दबाव क्यों नहीं डाला?  पांडे ने कहा कि महाराष्ट्र में इनकी छवि खराब हो रही है, ये महाराष्ट्र में हारने की पोजीशन में हैं इसलिए उत्तर प्रदेश में राजनीति चमकाने के लिए अयोध्या आ रहे हैं।

पांडे ने कहा कि संयुक्त व्यापार मंडल के कार्यकर्ता उद्धव ठाकरे को काले झंडे दिखाएंगे। संयुक्त व्यापार मंडल ने जिला प्रशासन से अपील भी की है कि वह शिवसेना के कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगाए।

Loading...