ट्रिपल तलाक बिल के विरोध में थम गया कोटा, सड़कों पर दिखा मुस्लिमों का जनसैलाब

7:13 pm Published by:-Hindi News

राजस्थान के कोटा में आज हजारों की तादाद में मुस्लिम समाज के लोगों ने सड़कों पर उतरकर तीन तलाक कानून का विरोध किया। समाज के लाखों लोग सफेद लिबास में सैलाब की तरह शहर की सडक़ों पर उतरे और खामौसी से अपनी मांगों को देश के हुक्मरानों तक पहुंचाया।

शहर काजी अनवार अहमद के आह्वान पर लाखों लोग मल्टीपरपज से लेकर कलेक्ट्रेट तक जूलूस में शामिल हुए।  हाथों में नारे लिखित तख्तियां लिए लोगों का हुजूम इस कद्र था, कि एक सिरा मल्टीपरपज तो दूसरा ज्वाला तोप सब्जीमंडी में था। भीड़ को देखकर शहर थम सा गया और इसके बाद यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने में कई घंटे लग गए।

तीन तलाक बिल के विरोध में मुस्लिम समाज की मौन रैली@कोटा

Kota Patrika ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಆಗಸ್ಟ್ 9, 2019

आलम यह रहा कि ज्ञापन देने के लिए मौन जुलूस में जुटी भीड़ की कतार करीब डेढ़ से दो किमी लंबी थी। इससे पहले जुलूस सुबह 10 बजे गुमानपुरा स्थित मल्टीपरपज स्कूल से रवाना हुआ जो कैनाल रोड, सरोवर टॉकीज रोड, लक्खी बुर्ज, अग्रसेन चौराहा, नयापुरा होते हुए कलक्ट्रेट पहुंचा।

इस दौरान शहर काजी अनवार अहमद ने बताया कि भारत देश का एक सविंधान है। इसकी भावना के अनुरूप ही व्यवस्थाएं हैं। संविधान में हर इंसान अपने धर्म व मजहब के मामले में स्वतंत्र है, इसके बावजूद तीन तलाक बिल को पेश किया गया। यह गलत है। इस कानून से किसी को कोई लाभ नहीं है।

शहर काजी ने कहा कि शरीअत में शादी ब्याह का एक कानून है। तलाक का भी एक इस्लामिक तरीका है। यह बिल मजहबी आजादी में दखलअंदाजी है। सरकार इसे वापिस ले या इसमें संशोधन करे।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें