amn

amn

अयोध्या में राम मंदिर बनाने की वकालत कर रहे उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने अपना प्रस्ताव पेश करते हुए कहा कि योध्या में राम मंदिर का निर्माण कराया जाए, वहीं मस्जिद का निर्माण लखनऊ में कराया जाए.

मस्जिद को ‘मस्जिद-ए-अमन का नाम देते हुए बोर्ड ने मस्जिद के लिए लखनऊ के घंटाघर के पास ट्रस्ट की ज़मीन का चयन किया है. हालांकि बोर्ड ने कहा कि बाबरी मस्जिद के स्थान पर बनने वाली इस मस्जिद का नाम मुगल बादशाह बाबर और उनके सेनापति मीरबाकी के नाम पर नहीं होगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शिया बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने सोमवार को लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि शिया वक्फ बोर्ड अपना अधिकार कस्टोडियन होने के नाते हटा रहा है. हम उस पर कभी भी दावा नही करेंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस मामले मे सिर्फ़ झगड़ा बढ़ा रहा है. अब सुप्रीम कोर्ट इस मसौदे पर फैसला करेगा.

रिजवी ने बताया कि ये मसौदा 5 बिंदुओं पर है. इसमें मंदिर की जगह से शिया वक्फ़ बोर्ड दावा नहीं करेगा. अब ये ज़मीन मंदिर निर्माण पक्ष की होगी. सुप्रीम कोर्ट में 18 नवम्बर को मसौदा पेश किया जा चुका है.