Monday, September 27, 2021

 

 

 

यूपी विधानसभा में सुल्तानपुर का नाम बदलने का प्रस्ताव, यूजर बोले – हार से नहीं लिया कोई सबक ?

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के लम्भुआ से पहली बार चुनाव जीत कर आए बीजेपी विधायक देवमणि द्विवेदी ने सुल्तानपुर के नाम को बदलने का प्रस्ताव गुरुवार को विधानसभा में पेश किया। उन्होने भगवान राम के पुत्र के नाम पर सुल्तानपुर का नाम रखने का प्रस्ताव पेश किया है।

विधायक देवमणि द्विवेदी का कहना है कि उनके पास सुल्तानपुर के नाम को बदलने का ऐतिहासिक साक्ष्य मौजूद है। उन्होंने कहा कि शहर पहले कुश भावनपुर के नाम से जाना जाता था। इसके अलावा इसे कुशपुर और कुशावटी के नाम से भी जाना जाता रहा है। लेकिन सबसे प्रसिद्द नाम कुश भावनपुर था।

द्विवेदी कहते हैं, “महान कवी कालिदास की महाकाव्य रघुवंश, इतिहासविद एलेग्जेंडर कन्निघम और सुल्तानपुर के राजपत्र के रिकॉर्ड के मुताबिक भी शहर का नाम यही था। लेकिन अलाउद्दीन खिलजी के शासन काल के दौरान इसका नाम बदलकर सुल्तानपुर कर दिया गया।”

बता दें इससे पहले इलाहाबाद और फ़ैजाबाद का नाम प्रयागराज और अयोध्या किया जा चुका है। इसके अलावा मुगलसराय जंक्शन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन किया गया है। नाम परिवर्तन को लेकर एक बार फिर से नई बहस छिड़ चुकी है।

सोशल मीडिया पर यूजर कह रहे है कि पांचों राज्यों में करारी हार के बाद भी बीजेपी ने कोई सबक हासिल नहीं किया। कुछ करने के बजाय बीजेपी का ज़ोर सिर्फ नाम बदलने पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles