Saturday, July 24, 2021

 

 

 

रिश्वतखोर सहीराम के पास मिली 300 करोड़ की संपत्ति, लड़ना चाहता था लोकसभा चुनाव

- Advertisement -
- Advertisement -

जयपुर. अफीम खेती का मुखिया बनाने की एवज में 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े गए नारकोटिक्स विभाग के डिप्टी कमिश्नर सहीराम मीणा के खिलाफ जांच में 300 करोड़ की संपत्ति का खुलासा हुआ है।

जांच में सामने आया कि मीणा ने सरकार को अपनी संपत्ति का जो ब्योरा दिया है, उसमें भी झोल है। उसने सवाईमाधोपुर स्थित अपने गांव में 32 बीघा जमीन और अपने भाई व पत्नी के नाम से दो प्लाॅट दिखा रखे हैं, जबकि सर्च के दौरान मिले दस्तावेजाें में सामने आया कि उसकी पत्नी प्रेमलता, बेटे मनीष, बहू विजयलक्ष्मी व खुद के नाम पर 106 प्लॉट, 25 दुकानें, पेट्रोल पंप, फ्लैट सहित 300 करोड़ की संपत्ति है।

उल्लेखनीय है कि 1989 में कस्टम में नियुक्त होने वाले मीणा 1997 में भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी बन गए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मीणा लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे और इसके लिए वे कुछ राजनीतिक दलों के संपर्क में भी थे। उल्लेखनीय है कि मीणा पीएचडी हैं और कर सुधार को लेकर एक किताब भी लिख चुके हैं।

एडीजीपी सौरभ श्रीवास्तव के मुताबिक, ‘दो साल पहले नीमच से कोटा ट्रांसफर किए गए मीणा पर लाइसेंसधारी अफीम किसानों से रिश्वत लेने का आरोप लगा था। हर दिन अवैध गतिविधियों से उन्हें लाखों रुपए की आय होती थी। उनके घर से रिश्वत के हिसाब-किताब वाली एक डायरी भी थी। इसमें पैसे ब्याज पर दिए जाने का भी जिक्र था।’

पूछताछ के दौरान एसीबी अधिकारियों को धमकाया

मेरे खिलाफ सीबीआई में भी आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत हुई थी। तब जांच में कुछ भी नहीं मिला। सीबीआई ने मुझे क्लीनचिट दे दी थी। अब भी में पूरा हिसाब दे दूंगा। उधर, रिश्वत के आरोपी डॉ. सहीराम मीणा का डीम्ड सस्पेंशन हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles