nand

योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री स्टाम्प एवं पंजीयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ के साथ उनकी महापौर पत्नी को प्रयागराज में हिरासत में लिया गया है। गैर जमानती वारंट जारी हाने के बाद आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में नंदी के साथ उनकी पत्नी को एमपी-एमएलए कोर्ट में पेश किया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक पति-पत्नी के खिलाफ  2012 में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत दर्ज हुई थी। नंद गोपाल नंदी बीजेपी में आने से पहले बसपा के नेता थे। वह 2007 में बसपा  के टिकट पर विधायक बने थे तो वहीं 2012 के चुनाव में हार गए थे। इस वक्त इलाहाबाद दक्षिण सीट से बीजेपी के विधायक हैं।

Loading...

24 सितंबर 2012 को सिविल लाइंस थाने में केनरा बैंक के मुख्य शाखा प्रबंधक संजीव राय ने तहरीर दी थी कि नंदी राम राइस मिल्स के प्रोपराइटर नंद गोपाल गुप्ता ने जो लोन लिया था, वह अब एनपीए (अतिदेय घोषित) हो गया है। आरोप है कि तहरीर देने के बाद नंदी अपने एकाउंटेंट भरत कुमार बाजपेई व अन्य के साथ बैंक में आए और धमकी दी। कहा झूठे आरोपों में जेल भिजवा देंगे। साथ ही नौकरी छीन लेने की धमकी दी। इसका मुकदमा सिविल लाइंस थाने में दर्ज हुआ। इसी मामले में पुलिस ने जांच के बाद आरोप पत्र कोर्ट में पेश किया।

bjp

विशेष कोर्ट में सुनवाई के दौरान अभियुक्त नंदी और भरत कुमार उपस्थित नहीं हुए। हाजिरी माफी की अर्जी भी नहीं दी। पत्रावली का अवलोकन करने के बाद न्यायालय ने अपने निष्कर्ष में पाया कि अभियुक्तगण अनुपस्थित हैं, जिससे न्यायालय की कार्यवाही बाधित हो रही है। उच्च न्यायालय के निर्देश का पालन नहीं हो पा रहा है। इस पर कोर्ट ने मंत्री नंदी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया। थाना सिविल लाइन, प्रयागराज के धारा 506 के मामले में कैबिनेट मिनिस्टर नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया गया था।

एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी ने बुधवार को सांसद रामशंकर कठेरिया के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। दो मामलों की सुनवाई के दौरान रामशंकर कठेरिया कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। न ही उन्होंने हाजिरी माफी की अर्जी दाखिल की। ऐसे में विशेष न्यायाधीश ने उन्हें गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें