prbha

prbha

रविवार को तमिलनाडु के कोयंबटूर में आतंकी संगठन ‘लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम’ (लिट्टे) के प्रमुख वेलुपिल्‍लई प्रभाकरन की जयंती मनाई गई. साथ ही उसका जन्मदिवस को केक काटकर बड़े धूमधाम से मनाया गया.

थंथई पेरियार द्रविड़र कझगम (टीपीडीके) पार्टी की ओर से प्रभाकरन की जयंती मनाई गई. प्रभाकरन की जयंती मनाई जाने पर तमिल राजनीति में हंगामा मच गया है. प्रभाकरन एक खूंखार आतंकी था. जिसने  श्री लंका के उत्तर और पूर्व प्रांत में एक स्वतंत्र तमिल राज्य बनाने के लिए हिंसक पृथकतावादी अभियान चलाया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रभाकरन का ये खुनी खेल तीन दशक तक चला था. जो ई 2009 में उसकी मौत के बाद खत्म हुआ. 18 मई 2009 को  वह श्रीलंकाई सैनिको के हाथों मारा गया था. इस दौरान उसके बेटे की भी मौत हुई थी.

इससे पहले श्रीलंका के तमिल बहुल जाफना शहर की एक यूनिवर्सिटी में प्रभाकरन की जयंति मनाई गई थी. उस समय भी यूनिवर्सिटी के सैकड़ों छात्रों और शिक्षकों ने मिलकर कैलासपित सभागार में केक काटकर प्रभाकरन की जयंति मनाई थी, जिसके बाद काफी हंगामा हुआ था.