social

social

उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों की राज्य निर्वाचन आयोग ने तैयारी शुरू कर दी है. इसी कड़ी में आयोग ने प्रशासन को सोशल मीडिया की सख्ती से मोनिटरिंग करने का आदेश दिया है.

सभी जिले के एसपी और एसएसपी को निर्देश जारी करते हुए आयोग ने कहा कि अगले एक महीने निकाय चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर चुनाव से जुड़ी सभी संदेशों की मॉनिटरिंग की जाए. साथ ही जो कोई आपत्तिजनक पोस्ट या मैसेज शेयर करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऐसे में स्पष्ट हैं कि फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और व्हाट्सएप सहित किसी भी सोशल साईट पर अगर ऐसे कोई  संदेश शेयर होता है जिसे चुनाव की प्रक्रिया प्रभावित होती है या कानून व्यवस्था बिगडती है तो संदेश प्रसारित करने वाले को जेल की हवा खानी होगी.

ऐसे लोगों के खिलाफ प्रशासन आईटी एक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई करेगा. इस सबंध में जिले के पुलिस मीडिया सेल पूरी तरह से निगरानी भी करेगा.

निर्वाचन आयोग के जारी दिशा निर्देशों में पुलिस की और से अगले एक महीने नगर निकाय चुनाव से संबंधित जो भी मैसेज या फोटो सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों पर वायरल होंगे उनकी समुचित निगरानी की जाएगी.

Loading...