padmavat protest

padmavat protest

रायपुर – पद्मावत को लेकर जारी गतिरोध उस समय थम गया जब पुलिस ने फिल्म का विरोध कर रहे करणी सेना के दंगाइयों पर लाठियां भांजनी शुरू कर दी. मीडिया की ख़बरों की अनुसार पुलिस ने इतनी लाठियां मारी की नेताओं के साथ-साथ कार्यकर्ता भी रास्ते पर आ गये और स्वम् लिखकर दिया की अब से वो फिल्म का विरोध नही करेंगे.

गौरतलब है की फिल्म को लेकर इतनी हाय तौबा मची है लेकिन पुलिस दंगाइयों के खिलाफ एक्शन नाममात्र का भी नही ले रही है लेकिन छत्तीसगढ़ की पुलिस ने अन्य राज्यों की पुलिस के ठीक उलट बल प्रयोग करना शुरू कर दिया. जिससे देखते ही देखते सड़क पर आये दंगाई रफू चक्कर हो गये.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पूरे देश समेत छत्तीसगढ़ में भी पद्मावत 25 जनवरी को रिलीज होनी थी। लेकिन करणी सेना के नेता बुधवार 24 जनवरी फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे और सिनेमाघरों से इसे ना रिलीज करने की मांग कर रहे थे। छत्तीसगढ़ पुलिस ने पहले तो इन्हें समझाया, लेकिन जब ये ना माने तो इन पर लाठियां बरसाईं गईं, लाठियां खाकर इन नेताओं की अक्ल तुरंत ठिकाने आ गई। पुलिस द्वारा लाठी चार्ज के बाद कई लोग चोटिल हो गये तो कईयों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

rajpoot