shambhu

shambhu

राजस्थान पुलिस ने पश्चिम बंगाल के मजदूर मोहम्मद अफराज़ुल की हत्या की जांच पूरी करने के बाद हत्यारे शंभूलाल रेगर के खिलाफ चार्जशीट दायर कर दी है.

ध्यान रहे 7 दिसंबर रेगर को राजसमंद जिले में गिरफ्तार कर किया गया था, उसने अफराज़ुल की हत्या कर दी थी और उसके नाबालिग भतीजे की मदद से इस पूरी वारदात का वीडियो बनवा कर सोशल मीडिया पर वायरल किया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राजसमंद एसपी मनोज कुमार ने शुक्रवार को इंडियन एक्सप्रेस को बताया “इस मामले में आरोपपत्र और दस्तावेजों को आज राजसमंद में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के अदालत में पेश किया गया.” उन्होंने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए एक महीने से ज्यादा समय तक जांच की गई.

राजनगर पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस अधिकारी राजसमंद रामस्वामी मीना ने कहा, हत्या के पीछे के मकसद के साथ सामग्री और डिजिटल सहित साक्ष्य का हवाला दिया गया है. आरोपपत्र 413 पेज लंबा है और हमने इस मामले में 68 साक्षी दिए हैं.

जांच के दौरान सामने आया कि शंभूलाल के पश्चिम बंगाल निवासी एक युवती से अवैध संबध थे जिसके बारे में यहां रह रहे दो बंगाली मजदूरों अज्जू और बल्लू को भी मालूम था. इलाके में अच्छाई का नकाब ओढ़े शंभू को इस बात का डर था कि कहीं अज्जू और बल्लू ने उसके अवैध संबधों के बारे में सबसे कह दिया तो उसकी बिरादरी और इलाके में उसकी बदनामी हो जाएगी.

शंभू नृशंस हत्याकांड को अंजाम देकर यहां रह रहे बंगाली मजदूरों में खौफ पैदा करना चाहता था ताकि वो यहां से भाग जाएं और उसके इस राज से कभी पर्दा ही ना उठ पाए. इसलिए उसने अफराज़ुल की हत्या की.

Loading...