Thursday, June 24, 2021

 

 

 

गौहत्या के नाम पर मुस्लिम युवक पर पुलिसिया जुल्म, ज़बरन कबूलनामा लेने के लिए दी थर्ड डिग्री

- Advertisement -
- Advertisement -

गौहत्या के नाम पर उत्तर प्रदेश में मुस्लिमों पर पुलिसिया जुल्म बड़े पैमाने पर जारी है। जिस पर कोई रोक लगाने वाला नहीं है। आए दिन पुलिस कथित गौहत्या की शिकायतों पर मुस्लिमों को प्रताड़ित कर रही है। हाल ही बुलंदशहर में एक मुस्लिम मीट कारोबारी की पुलिस के द्वारा छत पर धक्का देने से मौत हो गई थी।

बुलंदशहर का मामला शांत हुआ नहीं था कि पुलिसिया जुल्म का एक और मामला अमरोहा में पेश आया है। जहां आम कारोबारियों को जबरन उठाकर नगर कोतवाली पुलिस थर्ड डिग्री दे रही है। आरोप है कि पुलिस उन्हें ज़बरन उठा कर ले आई और उनसे गौहत्या क़ुबूल कराने के लिए उन्हें टॉर्चर किया।

इस मामले में रविवार को नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला छंगा दरवाजा मुरादाबादी गेट निवासी वसीम, अरशद, फैजान, अब्दुल कादिर, वसीम अकरम, गुड्डू सहित कई लोगों ने एसपी ऑफिस पर प्रदर्शन किया और आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

आरोप है कि शुक्रवार की रात करीब दस बजे मुरादाबाद चौकी इंचार्ज संदीप चौधरी अपने साथी सिपाही सतेंद्र, मनीष और अन्य सिपाहियों के साथ बाग में आ गए और मारपीट कर सभी को थाने ले आए। बाद में गाड़ी में डालकर वासुदेव चौकी ले गए और यहां पूरी रात पीटा। थर्ड डिग्री देकर प्रताड़ित किया।

एक पीड़ित ने बताया कि दरोगा और एक सिपाही ने शराब पीकर उसकी दाढ़ी खींच कर दाढ़ी के बाल नोच लिए और उसे जान से मारने की धमकी देते हुये कहा कि क़ुबूल कर ले तूने बैल काटा है वर्ना मेरा तो ज़्यादा से ज़्यादा ट्रांसफर होगा लेकिन तुझे जान से मारे बिना नही छोड़ूंगा। पीड़ित ने बताया कि शराब पीकर बुरी तरह मारपीट करने के बाद सुबह 4 बजे उन्होंने हमें बेकसूर बता कर छोड़ दिया।

दूसरी और इंस्पेक्टर आरपी शर्मा का कहना है कि बाग में बैल काटने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस को पेड़ से बैल बंधा हुआ बरामद हुआ। जबकि तस्कर मौके से भाग निकले। जिसे दिशा में तस्कर भागे थे, उसकी तरफ कुछ लोग बैठे मिले। शक के आधार पर उनसे पूछताछ की गई थी। बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। थर्ड डिग्री देने का आरोप गलत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles