prhlad

prhlad

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा राशन कार्ड के आधार से लिंक करने की योजना पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई बरस पड़े है. उन्होंने कहा कि आधार से लिंक न हो पाने की वजह से कई गरीबों को राशन नहीं मिल पा रहा है.

प्रह्लाद मोदी का कहना है कि राशन डीलरों को इससे तकलीफ हो रही है. साथ ही लोगों को राशन के बिना खाली हाथ लौटना पड़ रहा है. उन्होंने गुजरात सरकार को मांग नहीं मानने पर राशन की दुकानें ठप करने की चेतावनी दी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने बताया कि वे राज्य के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री जयेश रादडिया से मुलाकात कर राशन डीलरों की समस्याओं से अवगत करा चुके है. उनका दावा है कि सिस्टम पूरी तरह अपडेट नहीं है और डाटा कलेक्शन में भी कमियां हैं. इससे राशनकार्ड धारकों को भी राशन नहीं मिल पा रहा है.

ध्यान रहे केंद्र के आदेश पर देश भर में गरीबी रेखा के नीचे के राशन कार्ड धारकों के लिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत राशन वितरण के लिए राशन कार्ड को आधार से लिंक कराना अनिवार्य किया गया है.

साथ ही राशन की ये दुकानें ई-एफपीएस सॉफ्टवेयर सिस्टम के जरिए केंद्र के डेटाबेस से जोड़ी गई है. ऐसे में लाभार्थी को अपने आधार की जानकारियां और अंगूठे का निशान देने हैं. तब जाकर ही उन्हें राशन मिल पायेगा.

Loading...