शिक्षानगरी कोटा में बने देश के सबसे लंबे हैंगिंग ब्रिज को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को समर्पित कर दिया. पीएम मोदी ने उदयपुर में रिमोट का बटन दबा कर इसका उद्घाटन किया.

ये ब्रिज कोटा में ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर की सड़क पर आने वाली चंबल नदी पर बना है. देश के सबसे बड़े हैंगिंग ब्रिज को बनने में पूरे दस साल का समय लगा है. इसका निर्माण 2007 में शुरू हुआ था. लंबे इंतजार के बाद इस वर्ष इसका काम पूरा हो सका.

ब्रिज के निर्माण के दौरान 48 मजदूरों की मौत हुई थी. मजदूरों की मौत 2009 में निर्माणाधीन पिल्लर गिर जाने से हुई थी. ये सभी मजदूर इसके नीचे दब गए थे. हालांकि पहले मरने वाले मजदूरों के परिजनों से ही इसके उद्घाटन की योजना थी.

इस हैंगिंग ब्रिज की लंबाई 1.4 किमी है. इसमें से 350 मीटर का हिस्सा हैंगिंग है. यह लंबाई देश के अन्य हैंगिंग ब्रिज से सर्वाधिक है. इस ब्रिज में लगे केबल के भीतर एयरो डायनामिक स्ट्रैंड का बंच हैं जिससे तूफानी हवाएं भी इस पर बेअसर होंगी.

ब्रिज पर लगे स्ट्रैंड 15.7 एमएम मोटे हैं और इसकी स्ट्रैंथ 1860 मेगा पास्कल है., जिन केबल पर ब्रिज टिका है उनकी न्यूनतम लंबाई 41 मीटर और अधिकतम लंबाई 179 मीटर है. ये केबल 2 से 300 एमएम तक मोटी हैं. केबल को जिस पायलॉन पर कसा गया है जो 80-80 मीटर ऊंचा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?