पश्चिम बंगाल में हिं’सा का सच सामने आया, भगवा कपड़े पहने लोगों ने तोड़ी विद्यासागर की मूर्ति

11:35 am Published by:-Hindi News

कोलकाता में मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा के लिए अमित शाह ने टीएमसी कार्यकर्ताओं को ज़िम्मेदार ठहराया है। हालांकि अमित शाह के दावे के उलट हिंसा के विडियो कुछ और ही सच्चाई बयान कर रहे है।

वीडियो क्लिप में दिख रहा है कि कुछ युवाओं का समूह जिन्होंने भगवा रंग की शर्ट पहनी हुई है, विद्यासागर हॉस्टल के बाहर लगी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को तोड़ रहे हैं। कोलकाता पुलिस इस संबंध में दो वीडियो क्लिप्स की जांच कर रही है।

एक अन्य वीडियो क्लिप में भगवा कमीज और पगड़ियां पहने लोग कैंपस में घुसकर पत्थरबाजी कर रहे हैं। इन लोगों ने भाजपा का झंडा लिया हुआ है। मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोडशो के दौरान तृणमूल कांग्रेस की छात्र इकाई तृणमूल छात्र परिषद् और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीज झड़प हो गई थी।

bjp

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस मामले में अब तक 58 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। ये लोग भाजपा के समर्थक बताए जा रहे हैं। वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि हिंसा के लिए राज्य के बाहर से आए भाजपा कार्यकर्ता जिम्मेदार हैं।

सूत्रों का कहना है कि जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें राज्य के बाहर के लोग भी शामिल हैं। जबकि हुगली, बर्दवान, नॉर्थ 24 परगना के लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हमें स्थानीय लोगों और सोशल मीडिया से विडियो फुटेज मिली है। इसमें बाहरी लोग घुसते दिखाई दे रहे हैं। ये लोग हॉस्टल परिसर को नुकसान पहुंचायाऔर प्रतिमा को तोड़ दिया।’

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें