Sunday, September 26, 2021

 

 

 

आप विधायक अमानतुल्लाह खान बदसलूकी के आरोप में बरी, अदालत ने झूठे आरोपो पर महिला को लगाई फटकार

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान को बुधवार (16 जनवरी, 2019) को कोर्ट ने एक महिला द्वारा दायर मामले में बरी कर दिया। महिला ने विधायक पर धमकी देने और उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया था।

स्पेशल जज अरुण भारद्वाज ने कहा कि शिकायतकर्ता के खुद विरोधाभासी बयान भी अभियुक्त के खिलाफ आरोप तय करने के लिए संदेह का मामला नहीं बनाते हैं। 2016 के इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने पाया कि मामले में जिस महिला को लेकर विधायक पर एफआईआर दर्ज की गई है उसी महिला के बयान कोर्ट में बार-बार बदलते रहे हैं।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि इस महिला ने साल 2016 में 21 जुलाई से 26 जुलाई के बीच में लगातार कोर्ट में अपने बयान बदले और हर बार दिए गए बयान पिछले बयान से एकदम उलट थे। ओखला से विधायक अमानतुल्लाह खान पर यह मामला जुलाई 2016 में दर्ज किया गया था जिसमें महिला द्वारा विधायक पर आरोप लगाया गया था कि उसने जान से मारने की धमकी दी और महिला की बेइज्जती करते हुए उसका शीलभंग करने की कोशिश की।

महिला ने इस मामले में 11 जुलाई, 2016 को पुलिस कमिश्नर के समक्ष शिकायत दर्ज कराई। इस दौरान शिकायत में घटना को लेकर कोई ज्रिक नहीं किया गया। एक अन्य अवसर पर, अदालत में अपना बयान को दर्ज कराते समय महिला ने कहा कि खान ने एक शख्स के जरिए उस पर धावा बोलने की कोशिश की।

19 जुलाई, 2016 को महिला ने एक और बयान दिया। इसमें उसने आरोप लगाया कि जब वह विधायक के आवास पर गई तब 20-22 साल के एक युवक ब’लात्कार की धम’की दी। ज’लाने की धमकी दी। कहा गया कि यह आरोपी द्वारा दी गईं धमकी थी, उन्होंने नहीं दीं। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि महिला को एक युवक द्वारा धम’की दी गई थी और जांच के दौरान ऐसे किसी भी व्यक्ति का पता नहीं लगाया जा सका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles